क्या आप भी चाय बनाने के बाद चायपत्ती कूड़े में फेंक देती हैं?

हम सभी के घर में चाय तो बनती ही है. किसी के घर में दो बार तो किसी के घर में हर घंटे के हिसाब से. चाय बनाने के बाद हममें से ज्यादातर लोगों के घरों में यूज्ड चायपत्ती को कूड़ेदान में फेंक दिया जाता है. लेकिन क्या आप जानते हैं इस चायपत्ती को आप कई तरीके से दोबारा इस्तेमाल कर सकते हैं.क्या आप भी चाय बनाने के बाद चायपत्ती कूड़े में फेंक देती हैं?

यूं तो यूज्ड चायपत्ती को कई तरह से दोबारा इस्तेमाल किया जा सकता है. लेकिन इसके लिए बहुत जरूरी है कि आपको इसके इस्तेमाल का सही तरीका पता हो. चाय बनाने के बाद छन्नी में बची हुई चायपत्ती को अच्छी तरह से साफ कर लें. ताकि उसमें मौजूद मीठास दूर हो जाए.

बची हुई चायपत्ती को इन कामों में इस्तेमाल कर सकते हैं:

1. चायपत्ती में एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं. ऐसे में चोट या किसी जख्म पर चायपत्ती का लेप लगाना फायदेमंद रहता है. उबली हुई चायपत्ती को अच्छी तरह धो लें. इसे चोट पर लगाने से घाव जल्दी भर जाएगा. इसके अलावा आप चाहें तो चायपत्ती को धोकर दोबारा उबाल लें. इस पानी से घाव धोना भी फायदेमंद रहेगा.

2. चायपत्ती का पानी एक बेहतरीन कंडिशनर होता है. चायपत्ती को धोकर दोबारा उबाल लें. इस पानी से बालों को धोएं. इससे बाल चमकदार और सॉफ्ट हो जाएंगे. 

3. चायपत्ती को दोबारा धोकर सुखा लें. काबुली चने बनाते समय इस चायपत्ती का इस्तेमाल किया जा सकता है. इससे चने की रंगत निखर जाएगी.

4. इस चायपत्ती को दोबारा उबाल लें. इस पानी को एक स्प्रे बॉटल में भरकर, फर्नीचर की सफाई करें. इससे फर्नीचर चमक उठेंगे.

5. बची हुई चायपत्ती को अच्छी तरह साफ कर लें. इस चायपत्ती का इस्तेमाल खाद के रूप में भी किया जा सकता है.

You May Also Like

English News