क्या झूठी है डी कंपनी में दरार की ख़बर! छोटा शकील ने किया ये बड़ा खुलासा

डी कंपनी के अंदर से एक बड़ी खबर आ रही है. और वो खबर ये है कि कंपनी में दरार पड़ गई है. दाऊद इब्राहिम का सबसे पुराना और भरोसेमंद सिपहसालार और एक तरह से कंपनी का प्रवक्ता छोटा शकील ना सिर्फ डी कंपनी बल्कि दाऊद इब्राहिम से भी अलग हो गया है. और इसकी वजह है दाऊद का भाई अनीस इब्राहिम. खबरों के मुताबिक छोटा शकील कंपनी के कामकामज में अनीस इब्राहिम को उससे ज्यादा तरजीह देने की वजह से नाराज था और इसीलिए डी कंपनी से अलग हो गया है. हालांकि आजतक से बातचीत में छोटा शकील ने दाऊद इब्राहिम से अलग होने की खबर को गलत बताया है.क्या झूठी है डी कंपनी में दरार की ख़बर! छोटा शकील ने किया ये बड़ा खुलासाअभी-अभी: ऑस्ट्रेलिया ने पूर्वी एशिया में भारत की बड़ी भूमिका का खुलकर किया समर्थन

अंडरवर्ल्ड की सबसे बड़ी खबर. डी गैंग के अंदर आ गई ‘दरार’. अलग हुए दाऊद और छोटा शकील. अनीस इब्राहीम ने डाली दाऊद-शकील में फूट. छोटा शकील ने ‘D’ कंपनी से तोड़ा नाता. जिस छोटा शकील के साथ की वजह से अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम ने अपना काला साम्राज्य खड़ा किया अब वही उससे अलग हो चुका है. ये सबसे बडी ख़बर लगातार जुर्म की दुनिया में आम हो रही है. इस खबर में इसलिए दम मालूम पड़ रहा है क्योंकि ये खुलासा भारत की खुफिया एजेंसी की तरफ से हुआ है.

मगर सवाल ये कि सालों से जुर्म की दुनिया में काला साम्राज्य चलाने वाली ‘डी’ कंपनी में आखिर ये दो फाड़ हुई कैसे. सूत्रों के हवाले से ऐसी खबर आ रही है कि दाऊद और शकील के अलग होने की वजह हाल ही में दोनों के बीच हुई झड़प है. जिसकी वजह कोई और नहीं बल्कि दाऊद का भाई अनीस इब्राहीम है. दरअसल दाऊद का सबसे करीबी है छोटा शकील मगर पिछले कुछ दिनों से दाऊद के कारोबार में उसके छोटे भाई अनीस इब्राहीम ने कुछ ज़्यादा ही दखल देना शुरू कर दिया था. बस यही बात छोटा शकील को खटक रही थी. जिसे लेकर छोटा शकील दाऊद से भिड़ गया. ख़बर है कि ये बहस इतनी तगड़ी हुई कि शकील ने फौरन ही डी कंपनी से अलग होने का फैसला ले लिया.

आपको बता दें कि दाऊद के सबसे खास और करीबी लोगों में से था छोटा शकील. खुद उसके भाई अनीस इब्राहीम से भी ज़्यादा करीबी. पिछले 3 दशक से छोटा शकील दाऊद के साथ साए कि तरह था. और अब तक दोनों ने एक साथ मिलकर गैंग को चला रहे थे. शकील 1980 के आसपास मुंबई छोड़ने के बाद से ही दाऊद के पास कराची के रेडक्लिफटन एरिया में रह रहा था. ख़बर है कि अब उसने अपना ठिकाना भी बदल लिया है. मगर फिलहाल कहां है ये किसी को पता नहीं है. 

सूत्रों का कहना है कि अनीस पाकिस्तान में दाऊद के साथ ही रहता है और पहले भी कई बार उसने गैंग के काम में हाथ बंटाने के बहाने दाऊद का करीबी बनने की कोशिश की थी. लेकिन दाऊद ने हमेशा ही अपने भाइयों को गैंग में बहुत ज्यादा दखल देने से रोका है, लेकिन हाल के दिनों में अनीस इब्राहीम ने दाऊद के काम में कुछ ज़्यादा ही दखल देना शुरू कर दिया था. जिसका एक मीटिंग में शकील ने दाऊद के सामने विरोध किया. और ये विरोध कहा-सुनी में तब्दील हो गया. बात इतनी बढ़ गई कि दाऊद ने शकील को गैंग से दूर रहने की हिदायत दी और दुबई में कुछ खास लोगों के साथ मीटिंग की. खबर है कि शकील ने भी किसी दूसरे ईस्टर्न एशियाई देश में अपने खास गुर्गों के साथ मीटिंग की है.

सूत्रों की मानें तो मुंबई, दुबई और पाकिस्तान में अभी गैंग के कुछ बेहद खास लोगों को ही इस बारे में जानकारी है. मुंबई में मौजूद डी कंपनी के गैंगस्टरर्स में अब ये कश्मकश है कि वो किसे अपना बॉस मानें क्योंकि पिछले कई सालों से दाऊद ने अपना सारा काम छोटा शकील के भरोसे छोड़ रखा था और मुंबई में कंपनी के गैंग मेंबर छोटा शकील के आदेश को ही दाऊद का आदेश मानते थे और उसी के मुताबिक अब तक काम चल रहा था मगर सवाल ये है कि अब क्या.

दाऊद और छोटा शकील में दरार पड़ने की खबर ने अंडरवर्ल्ड में तो भूचाल ला ही दिया है. मगर अब सवाल डी कंपनी के कई देशों में फैले धंधे पर भी खड़ा हो गया है. ये काले कारोबार हैं तो दाऊद के मगर इन्हें चलाता छोटा शकील था. लिहाज़ा अब दाऊद को अपने धंधे के डूब जाने का भी डर सता रहा होगा. क्योंकि ज़ाहिर है छोटा शकील डी कंपनी के हर कारोबार का राज़दार रहा है.

You May Also Like

English News