क्या PETN नहीं था UP विधानसभा में मिला संदिग्ध पाउडर? FSL डायरेक्टर पर होगी कार्रवाई

उत्तर विधानसभा के अंदर मिले संदिग्ध पाउडर को लेकर नया मोड़ सामने आया है. संदिग्ध पाउडर को PETN करार देने वाले लखनऊ एफएसएल के डायरेक्टर पर गाज गिर सकती है. डायरेक्टर श्याम बिहारी उपाध्याय को निलंबित करने की सिफारिश सरकार को भेज दी गई है.क्या PETN नहीं था UP विधानसभा में मिला संदिग्ध पाउडर? FSL डायरेक्टर पर होगी कार्रवाई

यूपी के डीजीपी सुलखान सिंह ने गृह विभाग को श्याम बिहारी उपाध्याय के निलंबन की सिफारिश भेजी है. श्याम बिहारी उपाध्याय पर PETN मामले में लापरवाही बरतने का आरोप लगा है. दरअसल, एफएसएल विभाग यूपी पुलिस के टेक्नीकल डिपोर्टमेंट के अधीन आता है. टेक्नीकल टीम ने ही अपनी जांच में श्याम बिहारी उपाध्याय पर लापरवाही के आरोप तय किए हैं.

सरकार कर सकती है कार्रवाई

डीजीपी ने सरकार को निलंबन की सिफारिश भेज दी है. मगर इस पर आखिरी फैसला यूपी सरकार के गृह विभाग को लेना है. ऐसे में अब ये उम्मीद की जा रही है कि योगी आदित्यनाथ सरकार जल्द ही इस मसले पर फैसला ले सकती है.

बता दें ये मामला सामने आने के बाद काफी हंगामा हुआ था. विधानसभा सत्र के दौरान ये संदिग्ध पाउडर बरामद हुआ था. जिसके बाद ATS ने संदिग्ध पाउडर को जांच के लिए हैदराबाद एफएसएल भेजा दिया था. जबकि राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने पाउडर को जांच के लिए चंडीगढ़ भेजा है. माना जा रहा है कि जल्द ही दोनों जगह से रिपोर्ट आ सकती है.

 हालांकि, इससे पहले आगरा फॉरेंसिक लैब में भी इस संदिग्ध पाउडर की जांच हो चुकी है. जहां ये खबर सामने आई थी कि पाउडर के पीईटीएन होने की पुष्टि नहीं हुई है. बता दें कि ये संदिग्ध पाउडर 12 जुलाई को विधानसभा के अंदर से मिला था.

You May Also Like

English News