क्यूबा की राजनीति में जुड़ा नया अध्याय-मिगेल डियाज-कैनल

क्यूबा में कास्त्रो परिवार के 6 दशक लंबे शासन का अंत होने के साथ ही लंबे समय से देश के उपराष्ट्रपति रहे मिगेल डियाज-कैनल को देश के राष्ट्रपति के रूप में पूर्व राष्ट्रपति राउल कास्त्रो द्वारा औपचारिक रूप से सत्ता की कमान सौंप दी गई  हैं. माना जा रहा हैं कि यह क्यूबा देश के राजनीतिक इतिहास के एक युग का अंत हैं .क्यूबा में कास्त्रो परिवार के 6 दशक लंबे शासन का अंत होने के साथ ही लंबे समय से देश के उपराष्ट्रपति रहे मिगेल डियाज-कैनल को देश के राष्ट्रपति के रूप में पूर्व राष्ट्रपति राउल कास्त्रो द्वारा औपचारिक रूप से सत्ता की कमान सौंप दी गई  हैं. माना जा रहा हैं कि यह क्यूबा देश के राजनीतिक इतिहास के एक युग का अंत हैं .  1959 की क्रांति के बाद जन्मे और देश के राष्ट्रपति बनने वाले डियाज-कैनल द्वीप के 60 साल के इतिहास में ऐसे पहले नेता होंगे जिनके नाम में 'कास्त्रो' नहीं जुड़ा है. साथ ही माना जा रहा हैं कि साल 2021 में कम्यूनिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन के होने तक पार्टी के अध्यक्ष बने रहेंगे और क्यूबा की राजनीति में प्रभावशाली व्यक्ति के तौर पर भी बने रहेंगे.  '1961 बे ऑफ पिग्स' की वर्षगांठ पर सुबह करीब 9 बजे देश के नेता के तौर पर मिगेल डियाज-कैनल की औपचारिक पुष्टि की जाएगी . गौतलब हैं कि  '1961 बे ऑफ पिग्स' हमले में फिदेल कास्त्रो के सुरक्षा बलों ने 1,400 अमेरिका समर्थित उन विद्रोहियों को हराया था,जो कास्त्रो को उखाड़ फेंकना चाहते थे.

1959 की क्रांति के बाद जन्मे और देश के राष्ट्रपति बनने वाले डियाज-कैनल द्वीप के 60 साल के इतिहास में ऐसे पहले नेता होंगे जिनके नाम में ‘कास्त्रो’ नहीं जुड़ा है. साथ ही माना जा रहा हैं कि साल 2021 में कम्यूनिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन के होने तक पार्टी के अध्यक्ष बने रहेंगे और क्यूबा की राजनीति में प्रभावशाली व्यक्ति के तौर पर भी बने रहेंगे.

‘1961 बे ऑफ पिग्स’ की वर्षगांठ पर सुबह करीब 9 बजे देश के नेता के तौर पर मिगेल डियाज-कैनल की औपचारिक पुष्टि की जाएगी . गौतलब हैं कि  ‘1961 बे ऑफ पिग्स’ हमले में फिदेल कास्त्रो के सुरक्षा बलों ने 1,400 अमेरिका समर्थित उन विद्रोहियों को हराया था,जो कास्त्रो को उखाड़ फेंकना चाहते थे.

You May Also Like

English News