बड़ी खबर: क्रिकेट की दुनिया के गगनचुम्बी छक्के, जो गेंद कभी वापस नही आयी।

क्रिकेट में कभी कभी कुछ ऐसा घटित हो जाता है कि वह या तो एक इतिहास बन जाता है या फिर लोगो को इतना रोमांचित कर देता है कि वह उसे भुला नही पाते। क्रिकेट की दुनिया में कई ऐसे धुरंधर हैं जिनके बल्ले से निकले रनों को लोग कभी नहीं भूल पाते हैं।बड़ी खबर: क्रिकेट की दुनिया के गगनचुम्बी छक्के, जो गेंद कभी वापस नही आयी।

भारतीय क्रिकेट में अपने जबरदस्त खेल के चलते युवराज सिंह को हमेशा ही याद किया जाता है। 2007 टी-20 विश्वकप में युवराज सिंह के छक्के के बाद गेंद स्टेडियम के बाहर डर्बन हाइवे पर मिली थी। 2009 के टी-20 विश्वकप के दौरान क्रिस गेल ने गेंद को स्टेडिम के बाहर ऑर्कबिशप टेनिस स्कूल पहुंचा दिया था।

2003 विश्वकप के दौरान सचिन का एंड्रूय कैडिक की गेंद पर लगाया छक्का तकनीकी रूप से आजतक का सबसे बेहतरीन शॉट माना जाता है। सचिन के इस छक्के के बाद बाद गेंद मैदान के बाहर मिली थी।

बेंगलोर के चिन्नास्वामी स्टेडियम में लगाया गया हेलीकॉप्टर शॉट सबसे लंबे छक्कों में शुमार है। धोनी ने गेंद को मैदान के बाहर पहुंचा दिया थी इसी मैच में रोहित शर्मा ने पहला वनडे दोहरा शतक जमाया था।

1997 में पाकिस्तान के शाहिद अफरीदी ने कनाडा में भारत के खिलाफ खेले गये मैच में जो छक्का लगाया था उसने मैदान के बाहर लगी ट्रैफिक लाइट को तोड़ दिया था।

इसी साल टी-20 मैच में वेस्टइंडीज के ड्वेन ब्रावों की गेंद पर डेविड मिलर ने जो छक्का लगाया था काफी बड़ा माने जाने वाले स्टेडियम वांडरर्स के पार हो गयी थी।

You May Also Like

English News