यही है उत्तर कोरिया की तानाशाही मिसाइल से हमला करेगा, खतरे में दो लाख लोगों की जिंदगी

उत्तर कोरिया ने आज कहा कि वह अपनी मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलों से अमेरिका के सामरिक सैन्य प्रतिष्ठानों के समीप हमले करने पर विचार कर रहा है। उत्तर कोरिया ने यह धमकी तब दी है जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उसे मिसाइल कार्यक्रमों को लेकर विध्वंस की चेतावनी दी। उत्तर कोरिया की आधिकारिक समाचार समिति कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी (केसीएनए) के अनुसार, उत्तर कोरिया ने कहा कि वह अब मध्यम से लंबी दूरी के सामरिक बैलिस्टिक रॉकेट सोंग-12 से गुआम के आसपास के इलाकों पर हमला करने की योजना का सावधानीपूर्वक अध्ययन कर रहा है।उसने कहा कि जब उत्तर कोरिया की परमाणु सेना के सुप्रीम कमांडर किम जोंग उन फैसला ले लेंगे तो योजना पर अंतिम निर्णय लिया जाएगा और इसे लागू किया जाएगा।यही है उत्तर कोरिया की तानाशाही मिसाइल से हमला करेगा, खतरे में दो लाख लोगों की जिंदगी

आज संसद में बरसे शरद यादव, कहा- इतिहास के साथ छेड़खानी, पूरी कौम के साथ छेड़खानी है

ट्रंप ने परमाणु हथियार संपन्न उत्तर कोरिया को लेकर अपना रूख और कड़ा करते हुए चेतावनी दी कि अगर वह अमेरिका को धमकाना जारी रखता है तो उसे ऐसे विध्वंस का सामना करना होगा जो दुनिया ने कभी नहीं देखा होगा। ट्रम्प की यह कड़ी चेतावनी ‘द वांशिंगटन पोस्ट’ अखबार द्वारा अमेरिका खुफिया सेवाओं के हवाले से दी गयी खबर के बाद आयी जिसमें कहा गया कि उत्तर कोरिया की किम जोंग-उन सरकार ने एक परमाणु हथियार का निर्माण किया है जो इतना छोटा है कि उसकी मिसाइलों में लगाया जा सकता है।

चीन से निपटने और अपनी ताकत में इजाफा करने के लिए नरेंद्र मोदी सरकार ने जारी किए 1600 करोड़

ट्रंप ने न्यूजर्सी में अपने गोल्फ क्लब में आयोजित एक बैठक की शुरूआत के दौरान कहा, ‘‘उत्तर कोरिया के लिए बहुत अच्छा होगा कि अमेरिका को और धमकियां ना दे। वरना उन्हें ऐसे विध्वंस का सामना करना होगा जो दुनिया ने कभी नहीं देखा होगा।’’ उत्तर कोरिया ने कहा कि सप्ताहांत संयुक्त राष्ट्र में पारित किए गए नए कड़े प्रतिबंध उसे परमाणु शस्त्र बनाने से नहीं रोक पाएंगे। उसने किसी तरह की बातचीत से इनकार कर दिया और आक्रोशित होकर अमेरिका के खिलाफ बदले की कार्रवाई करने की धमकी दी।

 

You May Also Like

English News