खत्म हो सकती है डायनैमिक फेयर की व्यवस्था, सरकार ने दिए संकेत

राजधानी, दुरंतो और शताब्दी एक्सप्रेस से सफर करने वाले लोगों को जल्द ही डायनैमिक फेयर की व्यवस्था से राहत मिल सकती है. सरकार ने कहा है कि वह इस व्यवस्था को लेकर विचार कर रही है.राजधानी, दुरंतो और शताब्दी एक्सप्रेस से सफर करने वाले लोगों को जल्द ही डायनैमिक फेयर की व्यवस्था से राहत मिल सकती है. सरकार ने कहा है कि वह इस व्यवस्था को लेकर विचार कर रही है.  रेल मंत्री पीयूष गोयल ने एक कार्यक्रम में पिछले 4 साल के दौरान भारतीय रेलवे की उपलब्ध‍ियां गिनाईं. इस दौरान उन्होंने कुछ ट्रेनों में डायनैमिक फेयर सिस्टम को खत्म करने के संकेत भी दिए.  उन्होंने कहा, ''सरकार कुछ ट्रेनों में शुरू की गई डायनैमिक  फेयर की व्यवस्था को लेकर फिर से विचार कर रही है. एक समिति की सिफारिशों के आधार पर इस पर कोई फैसला लिया जाएगा.'' उन्होंने बताया कि फिलहाल कमिटी की तरफ से दिए गए सुझावों पर विचार-विमर्श चल रहा है.  क्या है डायनैमिक फेयर  डायनैमिक फेयर अथवा फ्लेक्सी फेयर की व्यवस्था भारतीय रेल ने 2016 में शुरू की थी. यह व्यवस्था फिलहाल दुरंतो, राजधानी और शताब्दी एक्सप्रेस में लागू है. इस व्यवस्था के तहत मांग के आधार पर टिकटों का बेस फेयर तय किया जाता है. इसके तहत टिकटों की डिमांड जितनी ज्यादा होगी, उतना ही महंगा उसका टिकट मिलेगा.  किसको फायदा होगा?  अगर सरकार डायनैमिक फेयर की व्यवस्था को खत्म करने का फैसला लेती है, तो इससे सभी लोगों को एक ही बेस प्राइस पर टिकट मिलेगा. इससे लोगों को डिमांड बढ़ने पर ज्यादा कीमत ट‍िकट के लिए नहीं चुकानी पड़ेगी.  बता दें कि रेल मंत्री पीयषू गोयल ने सोमवार को दो नये ऐप लॉन्च किए हैं. इसमें एक रेल मदद और दूसरा, 'मेन्यू ऑन रेल्स' है. रेल मदद ऐप के जरिये आप रेलवे से संबंध‍ित किसी भी मामले की श‍िकायत कर सकते हैं. वहीं, 'मेन्यू ऑन रेल्स' के जरिये आप खाना ऑर्डर कर सकेंगे.

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने एक कार्यक्रम में पिछले 4 साल के दौरान भारतीय रेलवे की उपलब्ध‍ियां गिनाईं. इस दौरान उन्होंने कुछ ट्रेनों में डायनैमिक फेयर सिस्टम को खत्म करने के संकेत भी दिए.

उन्होंने कहा, ”सरकार कुछ ट्रेनों में शुरू की गई डायनैमिक  फेयर की व्यवस्था को लेकर फिर से विचार कर रही है. एक समिति की सिफारिशों के आधार पर इस पर कोई फैसला लिया जाएगा.” उन्होंने बताया कि फिलहाल कमिटी की तरफ से दिए गए सुझावों पर विचार-विमर्श चल रहा है.

डायनैमिक फेयर अथवा फ्लेक्सी फेयर की व्यवस्था भारतीय रेल ने 2016 में शुरू की थी. यह व्यवस्था फिलहाल दुरंतो, राजधानी और शताब्दी एक्सप्रेस में लागू है. इस व्यवस्था के तहत मांग के आधार पर टिकटों का बेस फेयर तय किया जाता है. इसके तहत टिकटों की डिमांड जितनी ज्यादा होगी, उतना ही महंगा उसका टिकट मिलेगा.

अगर सरकार डायनैमिक फेयर की व्यवस्था को खत्म करने का फैसला लेती है, तो इससे सभी लोगों को एक ही बेस प्राइस पर टिकट मिलेगा. इससे लोगों को डिमांड बढ़ने पर ज्यादा कीमत ट‍िकट के लिए नहीं चुकानी पड़ेगी.

बता दें कि रेल मंत्री पीयषू गोयल ने सोमवार को दो नये ऐप लॉन्च किए हैं. इसमें एक रेल मदद और दूसरा, ‘मेन्यू ऑन रेल्स’ है. रेल मदद ऐप के जरिये आप रेलवे से संबंध‍ित किसी भी मामले की श‍िकायत कर सकते हैं. वहीं, ‘मेन्यू ऑन रेल्स’ के जरिये आप खाना ऑर्डर कर सकेंगे.

You May Also Like

English News