खाने के बाद मीठा खाना, कितना सही कितना गलत?

खाने के बाद मीठा जरूर खाना चाहिए। ये तो आप बचपन से सुनते आ रहे होंगे लेकिन क्या आप इसकी वजह जानते हैं? अगर आप इसे केवल एक परंपरा मानते हैं तो आप गलत हैं इसके पीछे वैज्ञानिक तथ्य भी है।
खाने के बाद मीठा खाना, कितना सही कितना गलत?

 दरअसल जब भी आप कुछ खाते हैं तो उसे पचाने के आपका शरीर एसिड स्रावित करता है। अगर आपने मसालेदार चीज खाई है तो इस एसिड की मात्रा बढ़ जाती है जिससे पाचन प्रक्रिया तेज हो जाती है जबकि मीठी चीजों में कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है जो पाचन प्रक्रिया को धीमी कर देता है इसलिए खाना खाने के बाद मीठा खाने से पाचन प्रक्रिया दुरुस्त रहती है।

 हर लड़के के लिए ये 5 काम है जरूरी, तभी खुश रहेगी गर्लफ्रेंड

इसके अलावा मीठा खाने से सेरोटोनिन नाम के हॉर्मोन का स्तर बढ़ता है। ये न्यूरोट्रांसमीटर का काम करता है जिससे मीठा खाने के बाद आपको खुशी का अनुभव होता है। 

 जो लोग भारी खाना खा लेते हैं उन्हें हाइपोग्लाईसीमिया की स्थिति से गुजरना पड़ता है। इस स्थिति में ब्लड प्रेशर काफी कम हो जाता है, जो काफी खतरनाक हो सकता है इस स्थिति से बचने के लिए खाने के बाद मीठा खाने की सलाह दी जाती है।

 सिर्फ दांत ही नहीं आपके गहने भी चमकाता है टूथपेस्ट, जानें इसके और भी फायदे

खाने के बाद मीठी चीजें खाने के फायदे तो आप जान गए लेकिन ये भी सच है कि वाइट शुगर से बनी चीजों के सेवन से बचना चाहिए क्योंकि ये आपके लिए काफी घातक होता है। वाइट शुगर की अपेक्षा आप ब्राउन शुगर से बनी चीजों का सेवन करें। आप गुड़ का भी सेवन कर सकते हैं। 
 

You May Also Like

English News