खुशखबरी: अब एक एप से ही रेल यात्रियों को मिलेंगी ये सभी सुविधाएं…

रेल से जुड़ी तमाम तरह की सुविधा अब आपको एक ही एप पर मिल जाएगी। आरक्षित टिकट ही नहीं अनारक्षित टिकट व प्लेटफार्म टिकट भी आप रेलवे की इंटीग्रेटेड मोबाइल एप (आईएमए) से बुक करा सकेंगे। केंद्रीय रेल मंत्री इस नए एप को 13 जुलाई को लांच करेंगे।  खुशखबरी: अब एक एप से ही रेल यात्रियों को मिलेंगी ये सभी सुविधाएं...PM से मिले डोभाल, आतंकी हमले को लेकर हालात की जानकारी दी

रेल यात्रा टिकट के लिए अब आपको लंबी-लंबी लाइनों में लगकर टिकट लेने के झंझट से मुक्ति मिल जाएगी। घर बैठे ही आप आरक्षित व अनारक्षित टिकट बुक करा सकेंगे। इसके लिए अपने मोबाइल पर एक क्लिक की जरूरत पड़ेगी। इतना ही नहीं मोबाइल एप से आप रेलवे स्टेशन स्थित रिटायरिंग रूम तो बुक करा ही सकेंगे, नेशनल ट्रेन इंक्वायरी सिस्टम से ट्रेन की स्थिति का भी पता कर सकेंगे।  
         
रेलवे अधिकारियों के अनुसार, इस एकीकृत एप पर शिकायत करने की भी सुविधा दी जाएगी। रेलवे को मिली शिकायत की ऑनलाइन मॉनीटरिंग भी की जाएगी। खान-पान से संबंधित शिकायत की सुविधा भी इस एप पर मिलेगी। रेलवे अधिकारियों के अनुसार, अलग-अलग सुविधाओं के लिए अभी तक एप था, लेकिन सेंटर फॉर रेलवे इंफार्मेशन सिस्टम (कृस) ने आईएमए को तैयार किया है।

इस एप से किसी भी रूट पर चलने वाली मेल, एक्सप्रेस, पैसेंजर ट्रेन का टिकट बुक करा सकेंगे। कुछ दिनों बाद इसी एप में एप आधारित टैक्सी, होटल समेत अन्य सुविधा भी मिलने लगेगी।    

ताकि ट्रेन खाली ना जाए         

केंद्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने ट्रेनों में खाली रह जाने वाले सीटों की समीक्षा करने का आदेश दिया है। रेलवे बोर्ड के मेंबर ट्रैफिक मोहम्मद जमशेद को निर्देश दिया है कि जिस रूट पर ट्रेन खाली चल रही हो उस ट्रेन में अंतिम क्षणों में जारी किए जाने वाले आरक्षित टिकट पर यात्रियों को डिस्काउंट दिया जाए, ताकि रेलवे को अधिक से अधिक कमाई हो सके और यात्रियों को भी सुविधा मिल सके।         

यात्रियों की सुविधा व शिकायत के लिए रेलवे ने संबंधित सभी कर्मचारियों का मोबाइल नंबर कोच में प्रदर्शित करने का निर्णय लिया है। ऑपरेशन स्वर्ण के तहत राजधानी व शताब्दी ट्रेन में कोच अटेंडेंट, सिक्योरिटी इंचार्ज, बेड रोल इंचार्ज, टीटीई, कैटरिंग सर्विस, सफाई कर्मियों का मोबाइल नंबर प्रत्येक कोच में लिखा रहेगा।

इसका फायदा यह होगा कि यात्री अपनी सीट पर बैठे-बैठे ही अपनी समस्याओं के समाधान के लिए संबंधित कर्मचारी को फोन कर सकेंगे। सीट से उठकर उन्हें कर्मचारियों को ढूंढने की आवश्यकता नहीं होगी। यह सुविधा यात्रियों को अक्तूबर से राजधानी व शताब्दी ट्रेन में मिलने लगेगी।  

You May Also Like

English News