खुशखबरी: इंडियन रेलवे ने भारतीयों को दिया बड़ा तोहफा, बदला 50 साल पुराना नियम

नई दिल्ली: रेलवे ने अपने नियमों में बदलाव करते हुए लोगों को खुशखबरी दी है।

खुशखबरी: इंडियन रेलवे ने भारतीयों को दिया बड़ा तोहफा, बदला 50 साल पुराना नियम

यहाँ बिना वोटर आईडी के पत्‍नी से नहीं बना सकते है संबंध

यह खुशखबरी ट्रेन के स्‍लीपर या AC कोचों में कम दूरी की यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए है। रेलवे ने लंबी दूरी की रेलगाड़ियों में स्लीपर और एसी कोचों में कम दूरी के टिकट जारी करने पर लगी पाबंदी हटा ली है। इससे लंबी दूरी की ट्रेनों में कम दूरी की यात्रा सस्ती हो जाएगी। वर्तमान में, कम दूरी तक जाने वाले यात्रियों को लंबी दूरी की मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में आरक्षण की इजाजत नहीं होती है। इस वजह से नजदीकी स्टेशनों तक जाने वाले यात्री को लंबी दूरी का टिकट लेना पड़ता था।

 
रेलवे बोर्ड के डायरेक्टर पैसेंजर मार्केटिंग विक्रम सिंह ने आदेश जारी कर कहा कि मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों से यह नियम हटा लिया गया है, लेकिन सेकंड क्लास अनरिजर्व्ड टिकट के मामले में जोनल रेलवे इसे उन ट्रेनों में लागू रखेंगे, जिनमें दो अनारक्षित कोच ही लगाए जाते हैं।
रेलवे ने 1968 में यह नियम लागू किया था। उस वक्‍त रेलवे का तर्क था कि कम दूरी का टिकट देने से लंबी दूरी का सफर करनेवालों के लिए परेशानी हो सकती है। कम दूरी का टिकट बुक होने की वजह से लंबी दूरी का टिकट लेनेवालों को बर्थ नहीं मिल पाती है।

स्टूडेंट बनाना चाहता था टीचर से संबंध, टॉयलेट में बंद कर भागा

इसके लिए रेलवे की तरफ से सभी जोनों को अधिकार दिए गए थे कि वे अपने अपने जोन में ट्रेनों में जरुरत के मुताबिक इस नियम के तहत स्टेशन की पहचान कर उनके लिए न्यूनतम दूरी के टिकट देने पर रोक लगा सकते हैं।

You May Also Like

English News