गर्मी से झुलस रहा देशः दिल्ली-एनसीआर में शाम को आंधी के साथ हल्की बारिश का अनुमान

दिल्ली, यूपी, हरियाणा और राजस्थान समेत पूरे उत्तर भारत में भीषण गर्मी का दौर जारी है। गर्म हवाओं के साथ बढ़ता पारा लोगों का सुकून छीन रहा है। आलम यह है कि भीषण गर्मी के चलते दिन क्या रात में भी चैन नहीं मिल रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक, पिछले पांच सालों के दौरान मई के महीने में यह पहला मौका है जब लगातार इतनी भीषण गर्मी पड़ रही है। मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक, बृहस्पतिवार को भी दिन भर बादल छाए रहेंगे। गर्जन वाले बादल बनने, आंधी चलने और बूंदाबांदी होने के भी आसार हैं। अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान क्रमश: 42 और 30 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है।पूर्वी और चक्रवाती हवाओं के संयुक्त प्रभाव से ही सही, अधिकतम तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई। बुधवार को पालम में अधिकतम तापमान 42.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हालांकि औसतन अधिकतम तापमान सामान्य से महज एक डिग्री अधिक 42.0 और न्यूनतम तापमान सामान्य से 3 डिग्री अधिक 29.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। नमी का स्तर अधिकतम 62 और न्यूनतम 35 फीसद रिकार्ड किया गया।

पाकिस्तान और राजस्थान की चक्रवाती हवाएं दे रही राहत

कई सालों के बाद यह पहला मौका है जब दिल्ली में लगातार आठ दिनों तक पारा 43 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहा, हालांकि बुधवार को हल्का पारा गिरने से थोड़ी राहत मिली, लेकिन गर्मी-उमस ने लोगों को बेहाल ही करके रखा। जानकारी के मुताबिक, जहां 22 मई को दिल्ली के सफदरजंग इलाके में अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस रहा तो 29 मई तक 43 डिग्री या इसके आसपास ही रहा।

वहीं, मौसम विभाग ने गुरुवार को भी तेज धूप और गर्मी की चुभन की बात कही थी, जो सच साबित हुई। वहीं शाम तक आंधी आने की संभावना जताई है, साथ ही हल्की बूंदाबांदी का भी अनुमान मौसम विभाग ने जताया है।

यहां पर बता दें कि पिछले कुछ दिनों की रिकॉर्डतोड़ गर्मी के बाद बुधवार को मौसम में हल्का बदलाव देखने को मिला। सुबह के समय गर्मी से थोड़ी राहत मिली तो दिन के तापमान में आंशिक गिरावट दर्ज की गई।  बुधवार को सुबह के समय मौसम के मिजाज में थोड़ी नरमी थी। हवा भी चल रही थी। हालांकि दिन के समय धूप की तपन तेज थी, लेकिन और दिनों की तुलना में चुभन थोड़ा कम थी। मौसम विज्ञानियों के अनुसार, पश्चिमी पाकिस्तान और राजस्थान की ओर से चक्रवाती हवाएं चल रही हैं। पूर्वी हवा भी जारी है। इन दोनों के मिलने से ही मौसम में यह हल्का बदलाव देखने को मिला है। 

पूर्वी और चक्रवाती हवाओं के संयुक्त प्रभाव से ही सही, अधिकतम तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई। बुधवार को पालम में अधिकतम तापमान 42.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हालांकि औसतन अधिकतम तापमान सामान्य से महज एक डिग्री अधिक 42.0 और न्यूनतम तापमान सामान्य से 3 डिग्री अधिक 29.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। नमी का स्तर अधिकतम 62 और न्यूनतम 35 फीसद रिकार्ड किया गया।

 
 

You May Also Like

English News