गांगुली ने कहा- भारतीय कप्तान विराट कोहली जैसा चाहते थे, वैसा ही हुआ…

पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने हेड कोच रवि शास्त्री की नियुक्ति पर पहली बार बात की और साथ ही इस बात की पुष्टि कर दी कि वो कोहली की पसंद थे। गांगुली भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) के सदस्य थे, जिन्होंने इस महीने की शुरुआत में रवि शास्त्री का इंटरव्यू किया था। गांगुली के साथ सलाहकार समिति में मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण भी शामिल थे।गांगुली ने कहा- भारतीय कप्तान विराट कोहली जैसा चाहते थे, वैसा ही हुआ...अभिनव मुकुंद के जल्दी आउट होने पर गुस्से से कहा, ये सब कोहली की चाल…

वैसे रिपोर्ट ऐसी भी मिली थी कि आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के बाद जब कुंबले ने अपने पद से इस्तीफा दिया तो पूरी टीम शास्त्री को कोच के रूप में चाहती थी। शास्त्री का बतौर हेड कोच श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज पहला दौरा होगा। गांगुली ने विराट कोहली और रवि शास्त्री दोनों को टेस्ट सीरीज से पहले शुभकामनाएं दी हैं।

गांगुली ने इंडिया टुडे से बातचीत में कहा, ‘विराट कोहली ऐसा ही चाहते थे। उन्हें रवि शास्त्री का साथ पसंद हैं। मैं दोनों को शुभकामनाएं देता हूं। उनके पास विश्व कप से पहले दो साल हैं और उम्मीद करता हूं कि वो अच्छे नतीजे देंगे।’

गांगुली के मुताबिक ऐसा हो सकता है टीम कॉम्बिनेशन

सौरव गांगुली

कोहली ने वेस्टइंडीज, न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और बांग्लादेश के खिलाफ रिकॉर्ड दोहरे शतक लगाए, लेकिन इसके बाद ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उनका फॉर्म गड़बड़ा गया। 28 वर्षीय कोहली ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन टेस्ट में केवल 46 रन ही बना सके, जबकि चौथे टेस्ट में कंधे की चोट के कारण वो नहीं खेल सके। 

हालांकि, गांगुली का मानना है कि विराट विश्वस्तरीय बल्लेबाज हैं और वो जल्द ही लय में लौटेंगे। मौजूदा कैब अध्यक्ष गांगुली ने कहा, ‘ये सिर्फ समय की बात है। विराट एक शानदार बल्लेबाज हैं और मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं।’ ये पूछने पर कि भारतीय टीम पहले टेस्ट में तीन स्पिनरों के साथ उतरेगी तो पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा कि ऐसा संभव है। 

उन्होंने कहा, ‘ये देखना दिलचस्प होगा कि भारतीय टीम का दूसरा स्पिनर कौन होगा। मुझे आश्चर्य नहीं होगा अगर अश्विन के साथ कुलदीप यादव को आजमाया जाएगा। वैसे तीन स्पिनरों को खिलाने की भी उम्मीद की जा सकती है। हार्दिक पांड्या को उमेश यादव या मोहम्मद शमी के साथ आजमाया जा सकता है। अश्विन, जडेजा और पांड्या तीनों ही बल्लेबाजी करना जानते हैं। ऐसे में तीन स्पिनरों को आजमाया जा सकता है। अगर विराट ने टॉस जीता और बल्लेबाजी का फैसला किया तो तीन स्पिनरों का फॉर्मूला कारगर साबित हो सकता है।’

You May Also Like

English News