गाड़ी रोकने पर शख्स ने खुद को बताया CM का जीजा, शिवराज बोले- मैं बहुतों का साला

पुलिस की चेकिंग कार्रवाई के दौरान कई बार विवाद की स्थिति बनती है। ऐसा ही एक मामला भोपाल में बीते दिन सामने आया। निर्वाचन आयोग के निर्देश पर पुलिस ने हूटर लगी गाड़ियों के खिलाफ अभियान चलाया। इसी दौरान जब पुलिस ने हूटर लगी एक कार को रोका तो उसमें सवार शख्स ने खुद को प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंंह चौहान का जीजा बताते हुए रौब दिखाया। इस व्यक्ति के साथ महिलाएं भी थीं। काफी देर तक चले विवाद के बाद पुलिस को बिना कार्रवाई किए गाड़ी को छोड़ना पड़ा। इधर मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी तो कई बहनें हैं, रिश्तेदार हैं.. लेकिन पुलिस अपनी कार्रवाई के लिए स्वतंत्र हैं। भोपाल पुलिस ने भी बाद में 3000 रुपए का ई-चालानपुलिस की चेकिंग कार्रवाई के दौरान कई बार विवाद की स्थिति बनती है। ऐसा ही एक मामला भोपाल में बीते दिन सामने आया। निर्वाचन आयोग के निर्देश पर पुलिस ने हूटर लगी गाड़ियों के खिलाफ अभियान चलाया। इसी दौरान जब पुलिस ने हूटर लगी एक कार को रोका तो उसमें सवार शख्स ने खुद को प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंंह चौहान का जीजा बताते हुए रौब दिखाया। इस व्यक्ति के साथ महिलाएं भी थीं। काफी देर तक चले विवाद के बाद पुलिस को बिना कार्रवाई किए गाड़ी को छोड़ना पड़ा। इधर मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी तो कई बहनें हैं, रिश्तेदार हैं.. लेकिन पुलिस अपनी कार्रवाई के लिए स्वतंत्र हैं। भोपाल पुलिस ने भी बाद में 3000 रुपए का ई-चालान  आपको बता दें कि भोपाल पुलिस हूटर लगी गाड़ियों के खिलाफ मुहिम चला रहे थे। पुलिसकर्मि जेल पहाड़ी पर चेकिंग कर रहे थे। इसी दौरान वहां से एक कार गुजरी जिसमें हूटर लगा था। पुलिसकर्मियों ने गाड़ी रोकी तो उसमें सवार शख्स ने रौब दिखाना शुरू कर दिया। पुलिसकर्मियों ने कार सवार राजेंद्र चौहान से गाड़ी के कागज मांगे तो वो और भड़क गया। इस व्यक्ति ने मौजूद पुलिसकर्मियों को अपशब्द भी कहे। उसके साथ मौजूद दो महिलाओं ने भी पुलिसकर्मियों से विवाद किया। ये शख्स खुद को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का जीजा बता रहा था। साथ ही एक महिला ने फोन पर किसी से बात कराने की कोशिश भी की, लेकिन पुलिसकर्मियों ने कोई बात नहीं की।   युवा मोर्चा अध्यक्ष से मारपीट में मामले में दो पुलिसकर्मी सस्पेंड यह भी पढ़ें  चूंकि मामला सीएम से जुड़ा था लिहाजा मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने अपने वरिष्ठ अधिकारियों को इसकी सूचना दी। कुछ देर में पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंचे और विवाद सुलझाया। हालांकि सीएम का नाम आने के बाद पुलिसकर्मी भी दबाव में दिखे। आखिरकार खाकी पर एक बार फिर राजनीतिक दवाब हावी नजर आया और पुलिस ने बिना कोई कार्रवाई किए ही गाड़ी को छोड़ दिया।  हालांकि पूरे दिन चली कार्रवाई में पुलिस ने हूटर लगी हुई 125 से ज्यादा गाड़ियों के खिलाफ कार्रवाई की और उनके हूटर उतरवाए।   मध्य प्रदेश : प्रदेश प्रभारी के सामने भिड़े कांग्रेसी, लगे जिंदाबाद मुर्दाबाद के नारे यह भी पढ़ें    सीएम ने कहा - मैं तो जगत मामा   धार जिले के उमरबन में जनआशीर्वाद यात्रा यह भी पढ़ें  इधर इस शख्स के दावे को लेकर जब मुख्यमंत्री से पूछा गया तो उन्होंने कहा - मैं तो जगत मामा हूं, मेरी कई बहनें और बहुत सारे रिश्तेदार हैं। कानून अपना काम कर रहा है।  3 हजार का चालान भेजा   कहीं सेहत न बिगाड़ दे आरओ वॉटर यह भी पढ़ें  वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने राजेंद्र चौहान नामक इस शख्स के खिलाफ कार्रवाई का मन बनाया। पुलिस ने 3000 रु. का ई-चालान राजेंद्र चौहान के घर भेजा है।

आपको बता दें कि भोपाल पुलिस हूटर लगी गाड़ियों के खिलाफ मुहिम चला रहे थे। पुलिसकर्मि जेल पहाड़ी पर चेकिंग कर रहे थे। इसी दौरान वहां से एक कार गुजरी जिसमें हूटर लगा था। पुलिसकर्मियों ने गाड़ी रोकी तो उसमें सवार शख्स ने रौब दिखाना शुरू कर दिया। पुलिसकर्मियों ने कार सवार राजेंद्र चौहान से गाड़ी के कागज मांगे तो वो और भड़क गया। इस व्यक्ति ने मौजूद पुलिसकर्मियों को अपशब्द भी कहे। उसके साथ मौजूद दो महिलाओं ने भी पुलिसकर्मियों से विवाद किया। ये शख्स खुद को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का जीजा बता रहा था। साथ ही एक महिला ने फोन पर किसी से बात कराने की कोशिश भी की, लेकिन पुलिसकर्मियों ने कोई बात नहीं की।

चूंकि मामला सीएम से जुड़ा था लिहाजा मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने अपने वरिष्ठ अधिकारियों को इसकी सूचना दी। कुछ देर में पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंचे और विवाद सुलझाया। हालांकि सीएम का नाम आने के बाद पुलिसकर्मी भी दबाव में दिखे। आखिरकार खाकी पर एक बार फिर राजनीतिक दवाब हावी नजर आया और पुलिस ने बिना कोई कार्रवाई किए ही गाड़ी को छोड़ दिया।

हालांकि पूरे दिन चली कार्रवाई में पुलिस ने हूटर लगी हुई 125 से ज्यादा गाड़ियों के खिलाफ कार्रवाई की और उनके हूटर उतरवाए।

सीएम ने कहा – मैं तो जगत मामा

इधर इस शख्स के दावे को लेकर जब मुख्यमंत्री से पूछा गया तो उन्होंने कहा – मैं तो जगत मामा हूं, मेरी कई बहनें और बहुत सारे रिश्तेदार हैं। कानून अपना काम कर रहा है।

3 हजार का चालान भेजा

वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने राजेंद्र चौहान नामक इस शख्स के खिलाफ कार्रवाई का मन बनाया। पुलिस ने 3000 रु. का ई-चालान राजेंद्र चौहान के घर भेजा है।

You May Also Like

English News