गिरफ्तारी के बाद पहली बार जेल में मिले मरियम और शरीफ

एवेनफील्ड प्रॉपर्टीज मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद गिरफ्तार हुए पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने आज पहली बार अपनी बेटी मरियम नवाज से मुलाकात की. गिरफ्तारी के बाद पिता और पुत्री की यह पहली मुलाकात है. पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के नेता सीनेटर परवेज रशीद ने कहा कि उन्होंने और उनकी पार्टी के अन्य नेताओं ने जेल में आज शरीफ परिवार से मुलाकात की.एवेनफील्ड प्रॉपर्टीज मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद गिरफ्तार हुए पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने आज पहली बार अपनी बेटी मरियम नवाज से मुलाकात की. गिरफ्तारी के बाद पिता और पुत्री की यह पहली मुलाकात है. पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के नेता सीनेटर परवेज रशीद ने कहा कि उन्होंने और उनकी पार्टी के अन्य नेताओं ने जेल में आज शरीफ परिवार से मुलाकात की.  लंदन में 4 लग्जरी फ्लैट के मालिकाना हक को लेकर 6 जुलाई को जवाबदेही अदालत द्वारा दोषी ठहराए जाने के बाद शरीफ (68), उनकी बेटी मरियम (44) और दामाद कैप्टन (सेवानिवृत्त) मुहम्मद सफदर रावलपिंडी के आदियाला जेल में क्रमश: 10 वर्ष, 7 वर्ष और 1 वर्ष कैद की सजा भुगत रहे हैं.  आदियाला जेल से बाहर संवाददाताओं से बात करते हुए राशिद ने कहा कि आज पहली बार पिता-पुत्री में मुलाकात हुई. यह तथ्य जेल नियमों के विपरीत है. बता दें कि पाकिस्तान में रावलपिंडी के आदियाला जेल में दोनों को रखा गया है. मरियम के पति रिटायर्ड कैप्टन मुहम्मद सफदर को भी इसी जेल में रखा गया है.  राशिद के मुताबिक शरीफ ने जेल से ही देश की जनता से अपील की और कहा कि 25 जुलाई को होने वाले चुनाव में पार्टी को जीत दिलाएं. इस बीच वकीलों का आरोप है कि उन्हें जेल के अधिकारियों ने शरीफ परिवार से मिलने नहीं दिया. वकीलों की टीम वहां सलाह-मशविरे के लिए पहुंची थी. इस टीम में वकील-ख्वाजा हैरिस, साद हाशमी, जाफिर खान और अमजद परवेज शामिल थे.

लंदन में 4 लग्जरी फ्लैट के मालिकाना हक को लेकर 6 जुलाई को जवाबदेही अदालत द्वारा दोषी ठहराए जाने के बाद शरीफ (68), उनकी बेटी मरियम (44) और दामाद कैप्टन (सेवानिवृत्त) मुहम्मद सफदर रावलपिंडी के आदियाला जेल में क्रमश: 10 वर्ष, 7 वर्ष और 1 वर्ष कैद की सजा भुगत रहे हैं.

आदियाला जेल से बाहर संवाददाताओं से बात करते हुए राशिद ने कहा कि आज पहली बार पिता-पुत्री में मुलाकात हुई. यह तथ्य जेल नियमों के विपरीत है. बता दें कि पाकिस्तान में रावलपिंडी के आदियाला जेल में दोनों को रखा गया है. मरियम के पति रिटायर्ड कैप्टन मुहम्मद सफदर को भी इसी जेल में रखा गया है.

राशिद के मुताबिक शरीफ ने जेल से ही देश की जनता से अपील की और कहा कि 25 जुलाई को होने वाले चुनाव में पार्टी को जीत दिलाएं. इस बीच वकीलों का आरोप है कि उन्हें जेल के अधिकारियों ने शरीफ परिवार से मिलने नहीं दिया. वकीलों की टीम वहां सलाह-मशविरे के लिए पहुंची थी. इस टीम में वकील-ख्वाजा हैरिस, साद हाशमी, जाफिर खान और अमजद परवेज शामिल थे.

You May Also Like

English News