गिरफ्त में भाभी-देवर का जोड़ा, दृश्यम फ़िल्म की तर्ज़ पर रची कत्ल की साज़िश

दिल्ली के दरियागंज पुलिस के हत्थे चढ़ा देवर भाभी का यह वह जोड़ा है जिसने पुलिस के पसीने निकाल दिए. दरअसल अनीता नाम की इस महिला ने अपने देवर विजय के साथ मिलकर सबसे पहले अपने पति राजेश की हत्या की. दोनों करीब 15 दिनों तक पुलिस को गुमराह करते रहे.

पुलिस के मुताबिक 28 साल के विजय का बड़े भाई की पत्नी अनीता से अवैध संबंध थे. राजेश उत्तम नगर के हस्तसाल गांव में परिवार के साथ रहता था. विजय हाथरस से दिल्ली आकर चोरी-छिपे अनीता से मिलता था. रिश्तों में रुकावट के चलते विजय और अनीता ने राजेश को रास्ते से हटाने का मन बना लिया.

विजय 18 अगस्त को दिल्ली आ गया. उन्होंने झगड़ा करके 19 अगस्त को राजेश को भगा दिया. राजेश गांव जाने के लिए नई दिल्ली रेलवे स्टेशन जा रहा था, लेकिन साज़िश के तहत अनीता ने उसे वापस घर बुला लिया और फिर बस से अपने साथ गांव जाने के लिए बोली.

इसके बाद राजेश अपनी पत्नी अनीता और भाई विजय के साथ आनंद विहार बस पकड़ने के लिए निकला. मगर योजना के मुताबिक देवर और भाभी ने मिलकर शांति वन नाले के पास राजेश की गला घोंटकर हत्या कर दी. पहचान मिटाने के लिए उसके चेहरे पर पत्थर से वार भी किया.

चार दिन बाद जब बदबू आने लगी तो राहगीरों ने इसकी सूचना पुलिस को दी. जांच के दौरान पुलिस को दृश्यम फ़िल्म की तरह विजय और अनिता ने गुमराह करने की कोशिश की. सेंट्रल जिले के एडिशनल डीसीपी अमित शर्मा के मुताबिक ये दोनों लगातार पुलिस को गुमराह कर रहे थे. इनका कहना था कि राजेश लड़ाई करके गांव चला गया. जो कहानी विजय पुलिस को बता रहा था, वही कहानी उसके घरवाले बता रहे थे. कत्ल वाले दिन विजय अपना मोबाइल गांव छोड़ कर आया था जिससे उसकी लोकेशन ट्रेस न हो सके. कत्ल की साज़िश रचने के लिए विजय ने दो नए सिम खरीदे जिससे अनीता और विजय कत्ल की साजिश के दौरान बात करते थे.

अमित शर्मा के मुताबिक पुलिस जांच में साफ हो गया कि अनीता ने अवैध संबंधों के चलते देवर के साथ मिलकर पति का कत्ल किया था, फिलहाल दोनों देवर-भाभी पुलिस गिरफ्त में हैं.

You May Also Like

English News