गुजरात विधानसभा चुनाव: ‘महिला कार्ड’ खेलने की तैयारी में है कांग्रेस…

गुजरात विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है. एक तरफ जहां बीजेपी 1 अक्टूबर से गुजरात गौरव यात्रा की शुरुआत कर रही है, वहीं कांग्रेस ने राहुल गांधी की यात्रा के बाद अब नया दांव खेलने का प्लान तैयार किया है.गुजरात विधानसभा चुनाव: 'महिला कार्ड' खेलने की तैयारी में है कांग्रेस...आखिर क्यों हाईकोर्ट की हां के बावजूद कोलकाता में आज प्रतिमा विसर्जन नहीं..

गुजरात में कांग्रेस ने महिला वोटरों को लुभाने की योजना पर काम करना शुरु कर दिया है. जिसके तहत महात्मा गांधी की जयंती के मौके पर महिला कांग्रेस दाहोद जिले से चुनावी कैंपेन का आगाज कर रही है.

5 महिला नेताओं की टीम

महिला वोटरों के बीच पार्टी का संदेश पहुंचाने की जिम्मेदारी पांच महिला नेता निभाएंगी. ये पांच नेता गुजरात के ही अलग-अलग क्षेत्रों से होंगी. कैंपेन के दौरान महिला नेताओं का ये ग्रुप सूबे के कई जिलों में जाएगा और ये नेता जनसभाओं को संबोधित करेंगी.

डोर-टू डोर कैंपेन 

जनसभाओं के अलावा डोर-टू डोर कैंपेन के जरिए महिलाओं को सीधे संबोधित किया जाएगा. महिला कांग्रेस विंग की अध्यक्ष सुष्मित देब ने बताया कि गुजरात में महिलाओं के लिए महिलाएं ही अभियान चलाएंगी. उन्होंने बताया कि इस अभियान का पूरा फोकस महिला वोटरों के बीच जाकर संवाद बनाना है.

राहुल ने किया था दौरा

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का गुजरात दौरा बीते हफ्ते ही खत्म हुआ है. अपने दौरे के दौरान राहुल ने जहां मंदिरों में मत्था टेका और माथे पर टीका लगाकर वोटरों को एक अलग संदेश देने की कोशिश की, साथ ही उन्होंने महिलाओं को मजबूत करने का मुद्दा भी उठाया था.

बता दें कि महिलाओं को जॉब के मामले में गुजरात 22 राज्यों में 14वें नंबर पर आता है. साथ ही 15-34 साल के बीच की 70.33% महिलाएं बेरोजगारी की श्रेणी में आती हैं. ऐसे में चार दशक से ज्यादा से गुजरात की सत्ता से बाहर चल रही कांग्रेस महिला वोटरों पर खास फोकस कर अपनी नैय्या पार लगाने की कोशिश में है.

You May Also Like

English News