गुड न्यूज: स्काइमेट का दावा – केरल पहुंचा मानसून

भीषण गर्मी से परेशान लोगों से लिए राहत भरी खबर है। मौसम पूर्वानुमान जारी करने वाली निजी कंपनी ‘स्काइमेट’ ने दावा किया है कि दक्षिण पश्चिम मानसून ने सोमवार को केरल में दस्तक दे दी है। इसके साथ ही देश में दक्षिण पश्चिम मानसूनी बरसात का मौसम शुरू हो गया है। माना जा रहा है कि ये मानसूनी हवाएं आगे बढ़ते हुए एक हफ्ते के अंदर मुंबई पहुंच जाएंगी।भीषण गर्मी से परेशान लोगों से लिए राहत भरी खबर है। मौसम पूर्वानुमान जारी करने वाली निजी कंपनी 'स्काइमेट' ने दावा किया है कि दक्षिण पश्चिम मानसून ने सोमवार को केरल में दस्तक दे दी है। इसके साथ ही देश में दक्षिण पश्चिम मानसूनी बरसात का मौसम शुरू हो गया है। माना जा रहा है कि ये मानसूनी हवाएं आगे बढ़ते हुए एक हफ्ते के अंदर मुंबई पहुंच जाएंगी।  इस बीच, भारतीय मौसम विभाग ने बताया है कि बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बना है जो धीरे-धीरे नॉर्थ की ओर बढ़ रहा है। इससे केरल के साथ ही कर्नाटक के समुद्र तटीय क्षेत्रों में मंगलवार और बुधवार को बारिश हो सकती है।  आमतौर पर मानसून के केरल पहुंचने की तारीख 1 जून है। इससे पहले 'स्काइमेट' के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जतिन सिंह ने कहा, 'केरल में मानसून जैसी स्थितियां हैं। हम कह सकते हैं कि सालाना बारिश के मौसम की शुरुआत हो गई है।' इससे पहले 'स्काइमेट' ने अपने पूर्वानुमान में भी कहा था कि मानसून 28 मई को केरल पहुंचेगा।  भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के मुताबिक, यदि 10 मई के बाद केरल में स्थापित 14 मौसम निगरानी केंद्रों में से 60 प्रतिशत में लगातार दो दिन तक 2.5 मिलीमीटर या उससे अधिक वर्षा दर्ज की जाती है, तो दूसरे दिन केरल में मानसून के प्रवेश की घोषणा की जा सकती है।  यह मानसून आने के मुख्य मानकों में से एक है। लेकिन आईएमडी ने सोमवार सुबह 8.15 बजे के मौसम बुलेटिन में कहा कि मानसून अगले 24 घंटे में केरल पहुंचेगा। आईएमडी के अतिरिक्त महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने इसकी पुष्टि की है।

इस बीच, भारतीय मौसम विभाग ने बताया है कि बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बना है जो धीरे-धीरे नॉर्थ की ओर बढ़ रहा है। इससे केरल के साथ ही कर्नाटक के समुद्र तटीय क्षेत्रों में मंगलवार और बुधवार को बारिश हो सकती है।

आमतौर पर मानसून के केरल पहुंचने की तारीख 1 जून है। इससे पहले ‘स्काइमेट’ के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जतिन सिंह ने कहा, ‘केरल में मानसून जैसी स्थितियां हैं। हम कह सकते हैं कि सालाना बारिश के मौसम की शुरुआत हो गई है।’ इससे पहले ‘स्काइमेट’ ने अपने पूर्वानुमान में भी कहा था कि मानसून 28 मई को केरल पहुंचेगा।

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के मुताबिक, यदि 10 मई के बाद केरल में स्थापित 14 मौसम निगरानी केंद्रों में से 60 प्रतिशत में लगातार दो दिन तक 2.5 मिलीमीटर या उससे अधिक वर्षा दर्ज की जाती है, तो दूसरे दिन केरल में मानसून के प्रवेश की घोषणा की जा सकती है।

यह मानसून आने के मुख्य मानकों में से एक है। लेकिन आईएमडी ने सोमवार सुबह 8.15 बजे के मौसम बुलेटिन में कहा कि मानसून अगले 24 घंटे में केरल पहुंचेगा। आईएमडी के अतिरिक्त महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने इसकी पुष्टि की है।

You May Also Like

English News