गुणों का खजाना है अदरक: इस तरह करेंगे सेवन तो पेट की समस्याओं से मिलेगा छुटकारा

अपच होना दैनिक जीवन की एक आम समस्या है। हम सभी ने कभी न कभी इस समस्या से सामना जरुर किया होता है। अपच अनेक कारणों से हो सकता है। खराब दिनचर्या, असंयमित खान-पान या फिर दूषित भोजन, ये सभी इस समस्या के कारक हो सकते हैं। इस समस्या के अनेक लक्षण हैं लेकिन इन सबमें जो सबसे कॉमन लक्षण है वह है पेट में दर्द होना, सिरदर्द होना और उल्टी होना। इस समस्या से परेशान होकर घबराने की जरुरत नहीं है। आप इसका ईलाज अपने किचन में रखीं कुछ प्राकृतिक औषधियों से भी आसानी से कर सकते हैं।

बाजार में पेट की समस्या की अनेक दवाइयां उपलब्ध हैं, लेकिन इस तरह की दवाइयों का उपयोग बार-बार करने से शरीर को नुकसान भी पहुंचता है। केमिकल से युक्त इन दवाइयों के कई साइड-इफेक्ट्स होते हैं। इसलिए इस समस्या से निजात पाने के लिए घरेलू उपचार सबसे सही, सुरक्षित और सस्ता तरीका है। उदर-विकार की समस्या से उबरने के लिए अदरक का इस्तेमाल सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है। अदरक में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो पेट में एसिड्स को न्यूट्रल करने में काम आते हैं और पाचक रसों के निर्माण को भी बढ़ाने का काम करते हैं। इसलिए अदरक पाचन क्रिया में काफी सहायक होता है। साथ ही साथ आंत संबंधी क्षेत्रों से गैस बाहर निकालने में भी मदद करता है।

राष्ट्रपति के तौर पर कार्यकाल की ये पांच बड़ी बातों के लिए याद किये जाएंगे प्रणब मुखर्जी…

पेट संबंधी विकारों को दूर करने में अदरक के जूस का भी प्रयोग किया जा सकता है। अदरक का जूस निकालकर उसे एक ग्लास गर्म पानी में मिलाकर उसमें थोड़ी चीनी डाल दें। अदरक का यह घोल पेट के दर्द और पेट में सूजन जैसे विकारों का रामबाण ईलाज है। इसके अलावा अदरक की चाय भी इस रोग के लिए फायदेमंद औषधि है। एक कप पानी में डेढ़ चम्मच पिसा अदरक लेकर 3-5 मिनट तक भिगोएं। उसके बाद इसे निचोड़कर इसमें थोड़ी चीनी या शहद मिलाएं। अब इसे हर रोज कम से कम दो बार इस्तेमाल करें। उदर-विकारों में यह काफी राहत देने वाला है।

 

You May Also Like

English News