गुरदासपुर उपचुनाव के लिए मतदान शुरू, 15 लाख से अधिक कर लोग कर रहे वोट

पंजाब की गुरदासपुर संसदीय सीट पर उपचुनाव के लिए आज सुबह से वोटिंग चल रही है। हलके के 1781 पोलिंग स्टेशनों पर 15,23043 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहे हैं। चुनाव परिणाम 15 अक्तूबर को घोषित किए जाएंगे।गुरदासपुर उपचुनाव के लिए मतदान शुरू, 15 लाख से अधिक कर लोग कर रहे वोटअमेठी में CM योगी ने दिया बड़ा बयान, कहा- शहजादे को इटली की याद आती थी, अमेठी की याद नहीं आई

राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार, इस संसदीय सीट के अधीन नौ विधानसभा क्षेत्रों में आवश्यकतानुसार पोलिंग स्टेशनों की स्थापना की गई है। गुरदासपुर संसदीय सीट के लिए कुल 11 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। 

कुल मतदाता : 15,23,043
पुरुष मतदाता : 8,10,894
महिला मतदाता : 7,12,135
थर्ड जेंडर : 14

कहां कितने पोलिंग स्टेशन
सुजानपुर हलके में 196, भोआ में 206, पठानकोट में 163, गुरदासपुर में 184, दीनानगर में 201, कादियां में 212, बटाला में 190, फतेहगढ़ चूढ़ियां में 210 और डेरा बाबा नानक में 219 पोलिंग स्टेशन बनाए गए हैं।

ये हैं मुकाबले में

स्वर्ण सलारिया (भाजपा-अकाली गठबंधन)
सुनील कुमार जाखड़ (कांग्रेस)
मेजर जनरल सुरेश कुमार खजूरिया (आप)
संतोष कुमारी (मेघ देशम पार्टी)
कुलवंत सिंह (शिअद- अमृतसर)
रजिंदर सिंह (हिंदुस्तान शक्ति सेना)
सतनाम सिंह (निर्दलीय)
संदीप कुमार (निर्दलीय)
प्रदीप कुमार (निर्दलीय)
परविंदर सिंह (निर्दलीय)
पवन कुमार (निर्दलीय)
वीवीपैट मशीन भी लगाई
ईवीएम मशीनों पर 12वां बटन नोटा (इनमें से कोई नहीं) का भी होगा। सभी ईवीएम के साथ वीवीपैट मशीनें भी लगाई जा रही हैं, जिससे मतदाताओं को यह पता चल सकेगा कि उनके द्वारा ईवीएम पर बटन दबाने के बाद उनके प्रत्याशी को वोट गया है कि नहीं। इस बीच, गुरदासपुर संसदीय हलके में उपचुनाव के मद्देनजर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। चुनाव आयोग द्वारा पूरे क्षेत्र में राज्य पुलिस के अलावा केंद्रीय सुरक्षा बलों की 27 कंपनियां तैनात की गई हैं। हालांकि राज्य चुनाव अधिकारी कार्यालय ने केंद्र से 57 कंपनियों की मांग की थी।

यह पहचान पत्र दिखाकर वोटर डाल सकेंगे वोट
केंद्रीय चुनाव आयोग की ओर से मंगलवार को जारी एक पत्र के अनुसार, गुरदासपुर संसदीय हलके के लोग बुधवार को मतदान के लिए मतदाता पहचान पत्र के अलावा 12 वैकल्पिक पहचान पत्रों का प्रयोग कर सकते हैं। मुख्य चुनाव अधिकारी पंजाब के प्रवक्ता ने बताया कि किसी मतदाता का मत पहचान पत्र ग़ुम हो गया हो तो वह इसके बदले 12 अन्य पहचान पत्रों का प्रयोग कर सकता है। इनमें आधार कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, सरकारी नौकरी का पहचान पत्र, सरकारी बैंक की फोटोयुक्त पासबुक, पैन कार्ड, मनरेगा नौकरी कार्ड, स्वास्थ्य बीमा योजना स्मार्ट कार्ड, पैंशन दस्तावेज और प्रमाणित मतदाता पर्ची भी शामिल है।

You May Also Like

English News