गूगल फोटो को मिला आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और मशीन लार्निंग

गूगल एनुअल डेवलपर कॉन्फ्रेंस की शुरुआत में ही होने वाले कई बड़े बदलावों की घोषणा की गई। कंपनी ने टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल लोगों की जिंदगी को आसान बनाए के लिए किया है। इसमें AI और मशीन लर्निंग एहम भूमिका निभाएंगे।गूगल एनुअल डेवलपर कॉन्फ्रेंस की शुरुआत में ही होने वाले कई बड़े बदलावों की घोषणा की गई। कंपनी ने टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल लोगों की जिंदगी को आसान बनाए के लिए किया है। इसमें AI और मशीन लर्निंग एहम भूमिका निभाएंगे।  इवेंट में भारत का उदाहरण देते हुए बताया की किस तरह हेल्थ के क्षेत्र में AI का इस्तेमाल लोगों के इलाज के लिए किया जा रहा है। गूगल फोटोज के मामले में कंपनी ने कई बड़े बदलाव किए हैं। जानते हैं इनके बारे में...  गूगल फोटोज में हुए बड़े बदलाव  गूगल फोटोज को 2 साल पहले कंपनी द्वारा लॉन्च किया गया था। इस बार गूगल फोटोज में AI का इस्तेमाल किया गया है। कहीं भी घूमकर आने के बाद अक्सर आपके फोन में कई फोटोज इकठ्ठी हो जाती हैं। ऐसे में गूगल फोटोज डुप्लीकेट फोटोज को डिलीट कर उस वेकेशन की फोटो एक जगह इकठ्ठी कर लेगा।  जोड़े गए 3 नए फीचर  सजेस्टेड शेयरिंग: अक्सर ऐसा होता है कि ग्रुप में फोटोज लेते समय लगता है कि हमारे कैमरे से फोटोज ली जाए। ऐसा इसलिए क्योंकि कई फोटोज हमे कभी नहीं मिलती। फोटोज शेयरिंग को आसान बनाने के लिए गूगल सजेस्टिव शेयरिंग फीचर पेश किया है। इसके अंतर्गत आपको ऐप खुद आपके दोस्त को कौन-सी पिक्चर्स भेजनी हैं, ये सजेस्ट करेगा और बस एक टैप में आप फोटोज शेयर कर पाएंगे। ऐप आपकी शेयरिंग हैबिट को समझ लेगा और बेहतर पिक्चर्स का चुनाव कर यूजर्स को सुझाव देगा। जिन यूजर्स के पास गूगल फोटोज अकाउंट नहीं है वो भी ई-मेल या मैसेज के जरिए फोटोज रिसीव कर सकते हैं।  शेयर्ड लाइब्रेरी: गूगल फोटोज ऑटोमेटिकली आपके खास दोस्त, पति-पत्नी या भाई-बहन के साथ लाइब्रेरी शेयर कर देगा। इस तरह से एक यूजर्स दूसरे यूजर की लाइब्रेरी देख पाएगा। हालांकि, यह यूजर के हाथ में होगा कि गूगल फोटोज ऑटोमेटिकली कौन-सी फोटोज का चयन करेगा। यह फीचर आईओएस, एंड्रॉयड और वेबसाइट पर आने वाले कुछ हफ्तों में उपलब्ध हो जाएगा।  फोटो बुक्स की गई लॉन्च: अब यूजर्स फोटोज बुक्स को चन्द मिनटों में बना देगा। इसके लिए यूजर्स को फोटोज का चयन भी नहीं करना पड़ेगा। कुछ फोटोज का चयन करके फोटो बुक्स के विकल्प का चयन करें और गूगल फोटोज उसमे से बेस्ट फोटोज का चुनाव अपने आप कर लेगा। यह फीचर एंड्रॉयड और आईओएस में यूएस में उपलब्ध है।

इवेंट में भारत का उदाहरण देते हुए बताया की किस तरह हेल्थ के क्षेत्र में AI का इस्तेमाल लोगों के इलाज के लिए किया जा रहा है। गूगल फोटोज के मामले में कंपनी ने कई बड़े बदलाव किए हैं। जानते हैं इनके बारे में…

गूगल फोटोज में हुए बड़े बदलाव

गूगल फोटोज को 2 साल पहले कंपनी द्वारा लॉन्च किया गया था। इस बार गूगल फोटोज में AI का इस्तेमाल किया गया है। कहीं भी घूमकर आने के बाद अक्सर आपके फोन में कई फोटोज इकठ्ठी हो जाती हैं। ऐसे में गूगल फोटोज डुप्लीकेट फोटोज को डिलीट कर उस वेकेशन की फोटो एक जगह इकठ्ठी कर लेगा।

जोड़े गए 3 नए फीचर

सजेस्टेड शेयरिंग: अक्सर ऐसा होता है कि ग्रुप में फोटोज लेते समय लगता है कि हमारे कैमरे से फोटोज ली जाए। ऐसा इसलिए क्योंकि कई फोटोज हमे कभी नहीं मिलती। फोटोज शेयरिंग को आसान बनाने के लिए गूगल सजेस्टिव शेयरिंग फीचर पेश किया है। इसके अंतर्गत आपको ऐप खुद आपके दोस्त को कौन-सी पिक्चर्स भेजनी हैं, ये सजेस्ट करेगा और बस एक टैप में आप फोटोज शेयर कर पाएंगे। ऐप आपकी शेयरिंग हैबिट को समझ लेगा और बेहतर पिक्चर्स का चुनाव कर यूजर्स को सुझाव देगा। जिन यूजर्स के पास गूगल फोटोज अकाउंट नहीं है वो भी ई-मेल या मैसेज के जरिए फोटोज रिसीव कर सकते हैं।

शेयर्ड लाइब्रेरी: गूगल फोटोज ऑटोमेटिकली आपके खास दोस्त, पति-पत्नी या भाई-बहन के साथ लाइब्रेरी शेयर कर देगा। इस तरह से एक यूजर्स दूसरे यूजर की लाइब्रेरी देख पाएगा। हालांकि, यह यूजर के हाथ में होगा कि गूगल फोटोज ऑटोमेटिकली कौन-सी फोटोज का चयन करेगा। यह फीचर आईओएस, एंड्रॉयड और वेबसाइट पर आने वाले कुछ हफ्तों में उपलब्ध हो जाएगा।

फोटो बुक्स की गई लॉन्च: अब यूजर्स फोटोज बुक्स को चन्द मिनटों में बना देगा। इसके लिए यूजर्स को फोटोज का चयन भी नहीं करना पड़ेगा। कुछ फोटोज का चयन करके फोटो बुक्स के विकल्प का चयन करें और गूगल फोटोज उसमे से बेस्ट फोटोज का चुनाव अपने आप कर लेगा। यह फीचर एंड्रॉयड और आईओएस में यूएस में उपलब्ध है।

You May Also Like

English News