गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, 2022 तक हक किसानों की आय दोगुनी कर देंगे

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के चार वर्ष पूरा होने के उपलक्ष्य में आज गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने लखनऊ में मीडिया को संबोधित किया। लखनऊ के लोकभवन में उनके साथ प्रेस कांफ्रेंस में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा भाजपा उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पाण्डेय भी थे।उन्होंने कहा कि आपने पहले भी सरकारों को काम करते हुए देखा है और चार वर्ष से आप नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार को भी देख रहे हैं। हमने हर साल अपने कामकाज का ब्योरा जनता के सामने पेश किया है। इस बार भी हम 48 महीनों के दौरान हमारी सरकार की उपलब्धियों का ब्योरा आपके सामने रख रहे हैं।   उन्होंने कहा कि आपने पहले भी सरकारों को काम करते हुए देखा है और चार वर्ष से आप नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार को भी देख रहे हैं। हमने हर साल अपने कामकाज का ब्योरा जनता के सामने पेश किया है। इस बार भी हम 48 महीनों के दौरान हमारी सरकार की उपलब्धियों का ब्योरा आपके सामने रख रहे हैं।  गृह मंत्री ने कहा कि दुनिया के शीर्ष अर्थशास्त्रियों ने भी माना है कि जिस रफ्तार से भारत की अर्थव्यवस्था तेजी के साथ आगे बढ़ रही है, यदि ऐसे ही बढ़ती रही तो इस संभावना को नकारा नहीं जा सकता कि आगामी कुछ वर्षों के अंदर भारत की अर्थव्यवस्था दुनिया की टॉप तीन इकोनॉमी में आकर खड़ी हो जाएगी। भारत की आर्थिक ताकत पहले की तुलना में अब काफी तेजी से बढ़ी है। करंट अकाउंट डेफिसिट व फिसिकल डेफिसिट दोनों पूरी तरह से नियंत्रण में हैं। यहां तक कि अब करंट अकाउंट डेफिसिट अब समाप्त हो चुका है और भारत अब करंट अकाउंट सरप्लस में आ चुका है। हम पूरी तरह से आश्वस्त हैं क्योंकि इस वक्त हमारे पास विदेशी मुद्रा का भंडार करीब 400 मिलियन डॉलर से अधिक है। उन्होंने कहा कि आपको जानकर आश्चर्य होगा कि 156 बिलियन डॉलर की एफडीआई भारत में हुई है। यह कोई छोटी बात नहीं, बल्कि बहुत बड़ी उपलब्धि है।    राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत में मोबाइल रेवोल्यूशन का जनक अगर कोई रहा है तो वह आदरणीय अटल बिहारी वाजपेयी जी हैं, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने (जेएएम) जन धन योजना, आधार और मोबाइल के जरिए एक नई व्यवस्था भारत में बनाई है जिसका भरपूर लाभ भारतवासियों को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि सरकारी सब्सिडी अब सीधे लोगों के अकाउंट में पहुंच रही है। 20 करोड़ उपभोक्ताओं को 69815 करोड़ रुपये का कैश ट्रांसफर डीबीटी के माध्यम से किया जा चुका है। 431 दूसरी योजनाओं का भी करीब 3.66 लाख करोड़ रुपये सीधे लाभार्थियों तक पहुंचे हैं।   लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह ने कहा कि अब लीकेज की संभावनाएं खत्म हो चुकी हैं, अब सरकारी योजनाओं का पूरा लाभ लोगों को सीधे मिल रहा है। उन्होंने कहा कि इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के मामले में एक तथ्य यह है कि यूपीए-2 सरकार के आखिरी चार वर्ष में औसतन 12 किमी हाईवे रोज बनती थी, लेकिन हमारी सरकार के चार साल में औसतन 27 किमी रोजना के हिसाब से काम हो रहा है। इस बार आर्थिक सर्वेक्षण 2017-18 में कहा गया है कि जिनता जोर इस सरकार ने इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट पर जोर दिया है। उस हिसाब से 2040 तक अकेले इंफ्रास्ट्रक्चर में ही 4-5 ट्रिलियन डॉलर का निवेश होगा। आज की तारीख में हमारी अर्थव्यवस्था के आकार से करीब दो गुना होगा।   उन्होंने कहा कि रूरल रोड कनेक्टिविटी के मामले में भी हमारी सरकार ने शानदार काम किया है। हमारी सरकार से पहले 56' गांवों में रोड कनेक्टिविटी नहीं थी। पीएम मोदी ने चार वर्ष में देश में रूरल रोड कनेक्टिविटी को 82' तक पहुंचा दिया है। प्रधानमंत्री ने बहुत स्पष्ट रूप से अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति का परिचय देते हुए यह 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने का फैसला किया है। नीम कोटेड यूरिया आने के बाद किसानों को काफी राहत मिली है।   राजनाथ सिंह ने कहा कि पहली बार भारत के इतिहास में ऐसा हुआ है कि रूरल इकॉनमी को मजबूत करने के लिए 14 लाख करोड़ रुपये का बजट का प्रावधान किया गया है। आप भी यह मानेंगे कि चार वर्ष में हमारी सरकार के एक भी मंत्री के दामन पर भ्रष्टाचार के कोई दाग नहीं लगे हैं। हमारे प्रधानमंत्री जी स्वावलंबी, सशक्त, स्वाभिमानी भारत बनाने के लिए सतत प्रयत्नशील हैं। हमारी सरकार की संवेदनशीलता का इससे बड़ा नमूना क्या हो सकता है कि झोपड़ी में रहने वाला पहले दम तोड़ देता था, लेकिन 50-100 रुपये का इलाज नहीं करा पाता है, लेकिन हमारी सरकार ने ऐसा हेल्थ कवर दिया जिसके जरिए झोपड़ी वाले गरीब व्यक्ति को अस्पताल में इलाज मिलेगा।   राजनाथ सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार के बारे में मैं जरूर कहना चाहूंगा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यहां पूरी ईमानदारी और साफ नीयत के साथ काम किया और विकास और सुशासन की जमीन तैयार करने की कोशिश की है। उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था के बारे में इस बात पर बहस नहीं हो सकती कि योगीजी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश में सरकार बनने के बाद गुंडे-बदमाशों के दिल में दहशत पनपी है।

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मोदी सरकार की चार वर्षों की उपलब्धियां गिनाई लेकिन अटल बिहारी वाजपेई को याद करना नहीं भूले । उन्होंने कहा अटल बिहारी ने देश को अर्थव्यवस्था के मामले में दुनिया में मजबूती दी और मोदी जी ने टॉप 7 में लाकर खड़ा कर दिया।उन्होंने कश्मीर सीमा पर सीजफायर के सवाल पर कहा कि हमने जवानों के हाथ नहीं बांध रखे हैं, अगर कोई आतंकी हमला होगा तो मुंह तोड़ जवाब दिया जाएगा। अभी पांच आतंकी मारे गए। उन्होंने मोदी सरकार की ढेर सारी उपलब्धियां गिनाई और विधायकों के धमकी के मामले में कहा कि पता चल गया है। पाकिस्तान से यह धमकी मिल रही थी।

राजनाथ सिंह ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत की आर्थिक ताकत पहले से बहुत बढ़ी है। उन्होंने कहा कि यह मैं स्वीकार करता हूँ कि क्रूड ऑयल और डॉलर के रेट बढऩे से दिक्कते आई हैं पर हमें इससे कोई दिक्कत नही आएगी क्योकि हमारे पास विदेशी मुद्रा का स्टॉक है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार आर्थिक क्षेत्र में काफी बेहतर काम कर रही है। हमको भरोसा है कि 2022 आते आते हम देश के किसानों की आमदनी दुगनी कर देंगे। उन्होंने कहा कि निवेश के लिए दुनिया में अगर सबसे अट्रैक्टिव देश कोई बना है तो वह भारत है।

अब तो दुनिया के अर्थशास्त्रियों ने भी माना है कि जिस रफ्तार से भारत की अर्थव्यवस्था तेजी के साथ आगे बढ़ रही है, यदि ऐसे ही बढ़ती रही तो इस संभावना को नकारा नहीं जा सकता कि आगामी कुछ वर्षों के अंदर भारत की अर्थव्यवस्था दुनिया की टॉप तीन इकोनॉमी में आकर खड़ी हो जाएगी। उन्होंने कहा कि देश को टॉप 10 अर्थव्यवस्थाओं में लाने का काम अटल बिहारी वाजपेयी जी की सरकार ने किया था। अब दुनिया की टॉप सात अर्थव्यवस्थाओं में देश को पहुंचाने का काम केंद्र सरकार की नरेंद्र मोदी सरकार ने चार साल में किया है।

उन्होंने कहा कि आपने पहले भी सरकारों को काम करते हुए देखा है और चार वर्ष से आप नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार को भी देख रहे हैं। हमने हर साल अपने कामकाज का ब्योरा जनता के सामने पेश किया है। इस बार भी हम 48 महीनों के दौरान हमारी सरकार की उपलब्धियों का ब्योरा आपके सामने रख रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि आपने पहले भी सरकारों को काम करते हुए देखा है और चार वर्ष से आप नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार को भी देख रहे हैं। हमने हर साल अपने कामकाज का ब्योरा जनता के सामने पेश किया है। इस बार भी हम 48 महीनों के दौरान हमारी सरकार की उपलब्धियों का ब्योरा आपके सामने रख रहे हैं।

गृह मंत्री ने कहा कि दुनिया के शीर्ष अर्थशास्त्रियों ने भी माना है कि जिस रफ्तार से भारत की अर्थव्यवस्था तेजी के साथ आगे बढ़ रही है, यदि ऐसे ही बढ़ती रही तो इस संभावना को नकारा नहीं जा सकता कि आगामी कुछ वर्षों के अंदर भारत की अर्थव्यवस्था दुनिया की टॉप तीन इकोनॉमी में आकर खड़ी हो जाएगी। भारत की आर्थिक ताकत पहले की तुलना में अब काफी तेजी से बढ़ी है। करंट अकाउंट डेफिसिट व फिसिकल डेफिसिट दोनों पूरी तरह से नियंत्रण में हैं। यहां तक कि अब करंट अकाउंट डेफिसिट अब समाप्त हो चुका है और भारत अब करंट अकाउंट सरप्लस में आ चुका है। हम पूरी तरह से आश्वस्त हैं क्योंकि इस वक्त हमारे पास विदेशी मुद्रा का भंडार करीब 400 मिलियन डॉलर से अधिक है। उन्होंने कहा कि आपको जानकर आश्चर्य होगा कि 156 बिलियन डॉलर की एफडीआई भारत में हुई है। यह कोई छोटी बात नहीं, बल्कि बहुत बड़ी उपलब्धि है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत में मोबाइल रेवोल्यूशन का जनक अगर कोई रहा है तो वह आदरणीय अटल बिहारी वाजपेयी जी हैं, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने (जेएएम) जन धन योजना, आधार और मोबाइल के जरिए एक नई व्यवस्था भारत में बनाई है जिसका भरपूर लाभ भारतवासियों को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि सरकारी सब्सिडी अब सीधे लोगों के अकाउंट में पहुंच रही है। 20 करोड़ उपभोक्ताओं को 69815 करोड़ रुपये का कैश ट्रांसफर डीबीटी के माध्यम से किया जा चुका है। 431 दूसरी योजनाओं का भी करीब 3.66 लाख करोड़ रुपये सीधे लाभार्थियों तक पहुंचे हैं। 

लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह ने कहा कि अब लीकेज की संभावनाएं खत्म हो चुकी हैं, अब सरकारी योजनाओं का पूरा लाभ लोगों को सीधे मिल रहा है। उन्होंने कहा कि इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के मामले में एक तथ्य यह है कि यूपीए-2 सरकार के आखिरी चार वर्ष में औसतन 12 किमी हाईवे रोज बनती थी, लेकिन हमारी सरकार के चार साल में औसतन 27 किमी रोजना के हिसाब से काम हो रहा है। इस बार आर्थिक सर्वेक्षण 2017-18 में कहा गया है कि जिनता जोर इस सरकार ने इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट पर जोर दिया है। उस हिसाब से 2040 तक अकेले इंफ्रास्ट्रक्चर में ही 4-5 ट्रिलियन डॉलर का निवेश होगा। आज की तारीख में हमारी अर्थव्यवस्था के आकार से करीब दो गुना होगा। 

उन्होंने कहा कि रूरल रोड कनेक्टिविटी के मामले में भी हमारी सरकार ने शानदार काम किया है। हमारी सरकार से पहले 56′ गांवों में रोड कनेक्टिविटी नहीं थी। पीएम मोदी ने चार वर्ष में देश में रूरल रोड कनेक्टिविटी को 82′ तक पहुंचा दिया है। प्रधानमंत्री ने बहुत स्पष्ट रूप से अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति का परिचय देते हुए यह 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने का फैसला किया है। नीम कोटेड यूरिया आने के बाद किसानों को काफी राहत मिली है। 

राजनाथ सिंह ने कहा कि पहली बार भारत के इतिहास में ऐसा हुआ है कि रूरल इकॉनमी को मजबूत करने के लिए 14 लाख करोड़ रुपये का बजट का प्रावधान किया गया है। आप भी यह मानेंगे कि चार वर्ष में हमारी सरकार के एक भी मंत्री के दामन पर भ्रष्टाचार के कोई दाग नहीं लगे हैं। हमारे प्रधानमंत्री जी स्वावलंबी, सशक्त, स्वाभिमानी भारत बनाने के लिए सतत प्रयत्नशील हैं। हमारी सरकार की संवेदनशीलता का इससे बड़ा नमूना क्या हो सकता है कि झोपड़ी में रहने वाला पहले दम तोड़ देता था, लेकिन 50-100 रुपये का इलाज नहीं करा पाता है, लेकिन हमारी सरकार ने ऐसा हेल्थ कवर दिया जिसके जरिए झोपड़ी वाले गरीब व्यक्ति को अस्पताल में इलाज मिलेगा। 

राजनाथ सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार के बारे में मैं जरूर कहना चाहूंगा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यहां पूरी ईमानदारी और साफ नीयत के साथ काम किया और विकास और सुशासन की जमीन तैयार करने की कोशिश की है। उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था के बारे में इस बात पर बहस नहीं हो सकती कि योगीजी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश में सरकार बनने के बाद गुंडे-बदमाशों के दिल में दहशत पनपी है।

 

You May Also Like

English News