गोरा होने के लिए ये क्रीम खरीद रहे हैं तो हो जाएं सावधान

मार्केट में हफ्ते भर में गोरी त्वचा पाने का दावा करने वाली क्रीम्स की भरमार है। लोग आंख बंद करके इन फेयरनेस क्रीम्स को खरीदते भी हैं लेकिन भारतीय त्वचा चर्म और कुष्ठ रोग विशेषज्ञों के असोसिएशन (IADVL) और उनके 200 मेंबर्स ने … न कंडोम, न नसबंदी, अनचाहे गर्भ से बचने का सबसे आसान तरीका आया सामने मार्केट में मिलने वाले करीब 300 फेयरनेस क्रीम्स के ब्रैंड पर जल्द से जल्द बैन लगाने के लिए मीटिंग बुलाई है।

यह मांग तब उठी थी जब ड्रग्स जनरल कंट्रोलर ऑफ इंडिया (DGCI) ने मार्च में स्टेरॉयड वाली 100 क्रीम्स को घातक बताया था क्योंकि उनमें ड्रग्स कॉम्बिनेशन तय मात्रा से ज्यादा पाया गया था। DGCI चीफ डॉक्टर जीएन सिंह को लिखे गए एक खत में IADVL के सदस्यों ने बताया कि उनके द्वारा जारी की गई लिस्ट पूरी नहीं थी। इस लिस्ट में 26 FDC प्रयोग करने वाले केवल 100 फेयरनेस क्रीम ब्रैंड का जिक्र किया गया है। लेकिन हकीकत में ऐसे करीब 300 फेयरनेस क्रीम ब्रैंड हैं जिनमें ऐसे केमिकल पाए गए हैं जो भारतीय लोगों की त्वचा के लिए एकदम खतरनाक हैं।

फिक्स्ड डोज कॉम्बिनेशन का मतलब उस एक मिश्रित डोज से है जिसमें दो या दो से ज्यादा ड्रग्स की एक तय अनुपातिक मात्रा मिलाई जाती है। अगर यह मात्रा एक तय अनुपात से ज्यादा हो जाए तो इससे त्वचा पर विपरीत असर दिखाई देते हैं। इसके अलावा शहर के त्वचा रोग विशेषज्ञ लोगों को फेयरनेस क्रीम यूजर्स को किसी भी तरह के साइडइफेक्ट को इग्नोर न करने की हिदायत देते हैं।

अगर किसी क्रीम को लगाने से त्वचा लाल हो जाती है, खुजली होने लगती है या फिर किसी भी तरह का साइड इफेक्ट महसूस होता है तो तुरंत डॉक्टर से मिलने की सलाह दी जाती है। त्वचा रोग विशेषत्र डॉक्टर लक्ष्मी सौजन्या का कहना है कि कि मार्केट में अब भी ऐसी कई क्रीम्स मिल रही हैं जिसमें घातक FDC ड्रग्स यूज किए जा रहे हैं, जो कि त्वचा के लिए बेहद खराब हैं। कई मरीज तो हमारे पास तब आते हैं जब वे त्वचा के संक्रमण का शिकार बन चुके होते हैं।

You May Also Like

English News