गोवा, गुजरात के बाद नॉर्थ ईस्ट में भी नहीं चला AAP का जादू, केरल से जता रहे उम्मीद

आम आदमी पार्टी की दिल्ली से बाहर विस्तार की कोशिशों को लगातार धक्का लग रहा है। पंजाब को छोड़ दे तो किसी भी राज्य में पार्टी एक भी सीट हासिल नहीं कर पाई है। यही नहीं ज्यादातर उम्मीदवारों के जमानत भी जब्त हो गई है।गोवा, गुजरात के बाद नॉर्थ ईस्ट में भी नहीं चला AAP का जादू, केरल से जता रहे उम्मीद

गोवा, गुजरात के बाद अब पार्टी को नॉर्थ ईस्ट के नागालैंड में बुरी हार का सामना करना पड़ा। मगर इन सबके बीच आप का पार्टी विस्तार की कोशिश जारी है। अब पार्टी केरल में चुनावी जमीन तलाशने में लगी है।

नागालैंड में पार्टी आधी से कमी सीटों पर चुनाव मैदान में थी। पार्टी को यहां कुल 7491 वोट मिले है। यानि कुल वोट का महज 0.8 फीसदी वोट। यहां घसपानी-एक की सीट को छोड़ दे तो सभी सीटों पर पार्टी उम्मीदवार अपनी जमानत बचाने में भी सफल नहीं रहे।

सिर्फ घसपानी-एक विधानसभा सीट पर पार्टी तीसरे नंबर पर रही, जहां पर उम्मीदवार को 6233 वोट मिले है। पार्टी नेता इस चुनावी परिणाम पर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है

गर कभी पार्टी के साथ खड़े रहे पुरानी साथी इन चुनावी नतीजों से पार्टी के शीर्ष नेतृत्व पर निशाना साध रहे है। विधायक कपिल मिश्रा ने ट्वीट करके कहा कि मेघालय में केजरीवाल का जादू पार्टी को नागालैंड में औसतन प्रत्येक सीट पर 123 वोट मिले है जबकि मेघालय में औसतन प्रत्येक सीट पर 23 वोट मिले है।

कुमार विश्वास ने साधा निशाना

कुमार विश्वास ने भी पार्टी और शीर्ष नेतृत्व का नाम लिए बगैर ट्वीट करके शीर्ष नेतृत्व पर निशाना साधा। कुमार विश्वास ने ट्वीट करके लिखा की अपने असुरक्षाग्रस्त वैचारिक पतन पर विचार करने की अपेक्षा मतदान व मतगणना की प्रक्रिया पर प्रश्न खड़े करने वाले नवपतित आंदोलनकारियों को जनता ईवीएम के बजाए उंगलियों गिनने योग्य वोट दे रही है।
 
फिर भी वो नकारात्मकता, चमचाच्छादित ओछेपन में मग्न हैं, लोकतंत्र के लिए कमजोर विपक्ष घातक है। कुमार विश्वास यही नहीं रूके उन्होंने अपने ट्वीट को रिट्वीट करके बिना नाम लिए सीधे केजरीवाल पर निशाना साधा लिखा की देश की जनता को दोष मत दीजिए।
 
उन्होंने तो दोनों दृष्टियां से अलग एक साफ सुथरी आम सी नजर को भी नजारा बख्शा पर इन नजर वालों ने महज राजा बने रहने के लिए अपनी एक आंख फोडांकर अंधों की फौज जोड़ ली।
वहीं इस हार पर चुप्पी साधे आप नेता तनीक भी चिंतित नहीं है। इस हार और आलोचना से इतर आप नेता व राज्यसभा सांसद संजय सिंह और विधायक सोमनाथ भारती ने शनिवार को केरल में चुनावी जमीन तलाश रहे है।
 
शनिवार को उन्होंने केरल में रैली निकाली, जिसमें अपार जनसमर्थन की बात कही जा रही है। पार्टी वहां भी चुनाव लडने की तैयारी कर रही है।

You May Also Like

English News