ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी में आज मनाया गया ‘स्थापना दिवस समारोह’…

ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी के रजत जयंती वर्ष में विश्वविद्यालय में 10वें स्थापना दिवस का आयोजन किया गया। यूनिवर्सिटी के स्थापना दिवस समारोह में संस्कृति के कई मोहक रंग छिटके। समारोह में ग्राफिक एरा के 25 साल के सफर और शानदार उपलब्धियों की चर्चा की गई। हजारों छात्र छात्राओं ने राष्ट्र के नवनिर्माण में योगदान देने के लिए पूरी क्षमता से जुटने का संकल्प भी किया।ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी में आज मनाया गया 'स्थापना दिवस समारोह'...बड़ी खुशखबरी: अब इंटरव्यू के जरिए ‘बैंक’ में सीधी मिलेगी नौकरी, 60 हजार सैलरी, जल्द करे आवेदन..

ग्राफिक एरा ग्रुप के मुख्य संरक्षक इंजीनियर आर सी घनशाला ने विशाल केक काटकर समारोह की शुरुआत की। घनशाला ने एक कमरे में एक कम्प्यूटर से शुरू हुए ग्राफिक एरा के सफर और राह की बाधाओं का उल्लेख करते हुए कहा कि सफलता के सफर में कदम कदम पर व्यवधान आते हैं। मंजिल तभी मिलती है, जब दृंढ़ इच्छाशक्ति हो और पूरी तन्मयता से जुटकर कार्य किया जाए। सपने साकार करने के लिए प्रैक्टिकल एप्रोच और कड़ी मेहनत बहुत जरूरी है।

लक्ष्य को हासिल करने के लिए करें हर जरूरी प्रयास 

उन्होंने नई पीढ़ी को नशे से आगाह करते हुए कहा कि नशा युवाओं को ही नहीं बल्कि उनके पूरे परिवार को अंधेरे की ओर धकेल देता है। ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी के चांसलर डॉ आर सी जोशी ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि ग्राफिक एरा की इस कामयाबी में डॉ कमल घनशाला की तपस्या और मेहनत के साथ ही अटूट लगन, दूर दृष्टि और टीम बनाने व नेतृत्व करने की क्षमता ग्राफिक एरा ग्रुप की कामयाबी की दास्तान में छिपी है।

उन्होंने यूरोप के तमाम देशों के अनुभव साझा करते हुए कहा कि ग्राफिक एरा जैसा माहौल और वातावरण कहीं नजर नहीं आता। वही डॉ. जोशी ने NAAC से उत्तर भारत में सर्वाधिक स्कोर के साथ ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी को ‘A’ रैंक मिलने को इसी का सुफल बताया। कुलपति डॉ एल एम एस पालनी ने ग्राफिक एरा ग्रुप के अध्यक्ष डॉ कमल घनशाला के कठोर परिश्रम और नेतृत्व क्षमता का उल्लेख करते हुए छात्र छात्राओं से लक्ष्य को साधने के लिए सतत प्रयास करने का आह्वान किया। 

स्थापना दिवस का समारोह तिरंगे की थीम पर 

समारोह का संचालन डा एम पी सिंह और साहिब सबलोक ने किया। स्थापना दिवस का समारोह तिरंगे की थीम पर किया गया। इसके साथ ही रंगारंग कार्यक्रम की शुरुआत इलारिका द्वारा प्रस्तुत गणेश वंदना के साथ हुआ। लोकप्रिय गायक एक्लेकजेंडर ने अपने गीतों से खूब वाहवाही लूटी। वही आईना ग्रुप ने शहीद भगत सिंह के जीवन पर आधारित नाटक के जरिए उनके विचारों और उनके जीवन की घटनाओं को प्रभावशाली ढंग से चित्रण भी किया। 

इस नाटक में विकल्प प्रताप सिंह, पारितोष जोशी, कृतिका वर्मा, वीरेंद्र राठौर, अदिति उप्रेती, कनिष्का सोनी, चेतन चौहान आदि ने अपनी भूमिकाओं को खूबसूरती से निभाया। रिद्म स्लेव ग्रुप से जुड़े छात्रों शिवम पांडेय, आदर्श रंजन व प्रज्जवल भोजक के साथ ही सैय्यद उबैद, कनिष्का, साबिन, हर्षित राय, प्रज्ञा सैनी, प्रदीक्षा पंवार ने नृत्य की प्रस्तुतियां दीं। ऋत्विक बौखंडी की बीट बॉक्सिंग पर भी खूब तालियां बजीं। समारोह में ग्राफिक एरा के महानिदेशक डॉ वी के तिवारी, ग्राफिक एरा हिल यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ संजय जसोला के साथ ही शुरुआती दौर में ग्राफिक एरा ग्रुप से जुड़े लोग और अन्य पदाधिकारी भी शामिल हुए थे।

You May Also Like

English News