घर में लानी है खुशहाली, तो इस हिस्से में बनाएं पूजाघर…

सभी हिंदु परिवारों के घर में एक हिस्सा मंदिर या पूजा घर के लिए होता है, जहां इष्टदेवों को पूजते हैं। घर को धन-धान्य से परिपूर्ण रखने और खुशहाली की प्रार्थना करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपके घर के किस हिस्से में मंदिर बनाना ज्यादा लाभकारी होगा, तो हम आपकी ये मुश्किल हल कर देते हैं आपको बताते हैं कि घर में कहां बनाएं मंदिर।घर में लानी है खुशहाली, तो इस हिस्से में बनाएं पूजाघर...क्या आपको भी है भगवान से शिकायत, तो जरूर पढ़ें ये अनोखी कहानी…

घर में पूजा का स्थान पूर्व दिशा में शुभ माना जाता है, क्योंकि पूर्व दिशा से सूर्य उगता है और धरती पर रोशनी का आगमन होता है। दक्षिण की दिशा में पूजा का स्थान शुभ नहीं माना जाता है।

वास्तुशास्त्र के अनुसार भी उत्तर-पूर्व का स्थान भगवान के लिए ही होता है। पूजा के समय व्यक्ति का चेहरा पूर्व या उत्तर की ओर होना चाहिए।

विदुर नीति के अनुसार इंसान के इन कर्मों से होती है उसकी आयु कम, करने से बचें इन कामों को!

कई घरों में देखा जाता है लोग दो जगह पूजा का स्थान बना लेते हैं, ये सही नहीं है एक घर में एक ही जगह पूजा होनी चाहिए। साथ ही अलग-अलग स्थानों पर देवी-देवताओं के चित्र नहीं लगाने चाहिए।

You May Also Like

English News