घोड़े बन जाएंगे कंगना रनौत के ‘साथी’ और अस्तबल होगा ‘ठिकाना’

इससे पहले वो विशाल भारद्वाज की फ़िल्म रंगून का प्रमोशन करेंगी, जो अगले साल की शुरुआत में रिलीज़ हो रही है।

मुंबई। कंगना रनौत बॉलीवुड की ऐसी एक्ट्रेसेज में शामिल हैं, जो अपने रोल के लिए एक्सटेंसिव प्रीपरेशंस करती हैं। करेक्टर को रियस्टिक बनाने के लिए कंगना लैंग्वेज और बॉडी लैंग्वेज से लेकर इसकी दूसरी बारिक़ियों का धयान रखती हैं और अब रानी लक्ष्मीबाई के लिए वो ऐसा कुछ करने जा रही हैं, जो पहले कभी नहीं किया।घोड़े बन जाएंगे कंगना रनौत के 'साथी' और अस्तबल होगा 'ठिकाना'

झांसी की रानी लक्ष्मीबाई की बायोपिक फ़िल्म को केतन मेहता डायरेक्ट कर रहे हैं। जब से फ़िल्म का एलान किया गया है, इसको लेकर तमाम तरह की ख़बरें आ रही हैं। इसका ह्यूज बजट भी ख़बरों का हिस्सा बनता रहा है। पर अब सुनने में आया है कि कंगना ने इस रोल के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं, जिसके तहत सबसे अहम होगा घुड़सवारी की ट्रेनिंग। रानी लक्ष्मीबाई एक वॉरियर क्वीन थीं और आज़ादी की लड़ाई में उनका अहम योगदान माना जाता है। उस दौर के युद्धों में घोड़ों का प्रयोग होता था, लिहाज़ा कंगना को घुड़सवारी के साथ घोड़ो के रख-रखाव के बारे में भी सीखना होगा।

ये भी पढ़:> बिग बॉस 10: पूल में मोनालिसा को देख स्‍वामी जी ने खोया कंट्रोल

ख़बरों के मुताबिक, फिलहाल हंसल मेहता की फ़िल्म सिमरन शूटिंग कर रहीं कंगना इसके बाद रानी लक्ष्मीबाई के लिए घुड़सवारी के लेसंस लेने जर्मनी जाएंगी, जहां वो घोड़ों के बारे में जानकारी करने के लिए असली अस्तबलों में रहेंगे। कंगना इस दौरान घोड़ों की देखभाल करने के तौर-तरीक़ों की ट्रेनिंग लेंगी। साथ ही उनकी प्रजातियों, खान-पान और फ़र्स्ट एड के बारे में सीखेंगी।

इससे पहले वो विशाल भारद्वाज की फ़िल्म रंगून का प्रमोशन करेंगी, जो अगले साल की शुरुआत में रिलीज़ हो रही है। रंगून भी पीरियड ड्रामा है और कंगना के साथ सैफ़ अली ख़ान और शाहिद कपूर लीड रोल्स में हैं। कंगना ने रंगून के लिए भी घुड़सवारी की ट्रेनिंग ली थी, लेकिन रानी लक्ष्मीबाई के लिए होने वाली ट्रेनिंग उससे ज़्यादा डिटेल में होगी।

You May Also Like

English News