चला नेमार का जादू, मैक्सिको को हराकर ब्राजील क्वार्टर फाइनल में

लीग राउंड में लय हासिल करने में नाकाम दिखे नेमार और ब्राजील ने मैक्सिको के खिलाफ अपना असली रंग दिखाते हुए क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली. पांच बार की चैंपियन ब्राजील ने प्री क्वार्टर फाइनल में मैक्सिको को 2-0 से हरा दिया. टीम ने दोनों ही गोल दूसरे हाफ में किया.लीग राउंड में लय हासिल करने में नाकाम दिखे नेमार और ब्राजील ने मैक्सिको के खिलाफ अपना असली रंग दिखाते हुए क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली. पांच बार की चैंपियन ब्राजील ने प्री क्वार्टर फाइनल में मैक्सिको को 2-0 से हरा दिया. टीम ने दोनों ही गोल दूसरे हाफ में किया.   नेमार ने 51वें मिनट में पहला गोल दागा जबकि आखिरी समय में मैदान पर आए रॉबर्टो फर्मिंगो ने 88वें मिनट में ब्राजील की बढ़त दोगुनी कर दी. अगर मैक्सिको के गोलकीपर गुलेरमो ओचोआ ने कुछ अच्छे बचाव नहीं किए होते तो ब्राजील की जीत का अंतर इससे अधिक होता.   ब्राजील ने लगातार सातवीं बार क्वार्टर फाइनल में जगह बनायी जबकि मैक्सिको लगातार सातवीं बार अंतिम-16 से आगे बढ़ने में नाकाम रहा. ब्राजील क्वार्टर फाइनल में बेल्जियम और जापान के बीच होने वाले मैच के विजेता से भिड़ेगा.   ब्राजील पहले हाफ के अंतिम 20 मिनटों में हावी रहा और दूसरे हाफ में अपना आक्रामक रवैया बरकरार रखा. नेमार भी गोल करने में सफल रहे. विलियन ने बायें छोर से मैक्सिको के लिए परेशानी खड़ी की. उन्होंने गोलपोस्ट के पास नीचे रहता हुआ क्रॉस दिया जिस पर गैब्रियल जीसस चूक गए लेकिन नेमार मुस्तैद थे और उन्होंने गेंद को गोल के हवाले करने में कोई गलती नहीं की.   नेमार ने इसके बाद दूसरा गोल करने में भी अहम भूमिका निभायी. वह बायें छोर से गेंद संभालकर आगे बढ़े और गोल की तरफ नीचा रहता हुआ शॉट जमाया जिसे ओचोआ ने रोकने की कोशिश की लेकिन फर्मिंगो तैयार थे जिन्होंने उसे गोलपोस्ट के हवाले कर दिया.   दोनों टीमों ने आक्रामक शुरुआत की लेकिन पहले 20 मिनट में मैक्सिको अधिक आत्मिवश्वास और लय में दिखा. इस बीच दोनों टीमों को मौके भी मिले लेकिन मैक्सिको के हिरविंग लजानो और ब्राजील के नेमार दोनों इन्हें नहीं भुना पाये.   ब्राजील की टीम ने धीरे-धीरे लय पकड़ी. नेमार के पास 25वें मिनट में अच्छा मौका था लेकिन मैक्सिको के गोलकीपर ओचोआ ने आगे आकर बड़ी खूबसूरती से उनका यह प्रयास विफल कर दिया.   ब्राजील दूसरे हाफ में शुरू से ही मैक्सिको पर हावी हो गया था. कोटिन्हो को ओचोआ ने गोल नहीं करने दिया लेकिन लगातार दबाव बनाने का उन्हें तब फायदा मिला जब नेमार ने गोल दागा. नेमार का यह विश्व कप में छठा गोल था जिससे उन्होंने राबर्टो रिवलिनो और बबेटो की बराबरी की. ब्राजील की तरफ से विश्व कप में यह 227वां गोल था. इससे उसने जर्मनी को पीछे छोड़कर नया रिकॉर्ड बनाया.   विलियन बेहतरीन फॉर्म में थे. उन्होंने 63वें मिनट में भी मौका बनाया लेकिन ओचोआ ने फिर से बेहतरीन बचाव किया. मैक्सिको ने भी इस बीच कुछ अवसरों पर ब्राजील के डिफेंस में सेंध लगायी. ऐसे ही एक अवसर पर हेक्टर हरेरा ने आंद्रेस गुआर्डाडो को गेंद थमायी लेकिन उनका शॉट थियगो सिल्वा ने रोक दिया.   इस बीच ब्राजील कोच टिटे ने कोटिन्हो की जगह फर्मिंगो को उतारा जिन्होंने मैदान पर पांव रखने के दो मिनट और छह सेकेंड बाद ही गोल दाग दिया.

नेमार ने 51वें मिनट में पहला गोल दागा जबकि आखिरी समय में मैदान पर आए रॉबर्टो फर्मिंगो ने 88वें मिनट में ब्राजील की बढ़त दोगुनी कर दी. अगर मैक्सिको के गोलकीपर गुलेरमो ओचोआ ने कुछ अच्छे बचाव नहीं किए होते तो ब्राजील की जीत का अंतर इससे अधिक होता.

ब्राजील ने लगातार सातवीं बार क्वार्टर फाइनल में जगह बनायी जबकि मैक्सिको लगातार सातवीं बार अंतिम-16 से आगे बढ़ने में नाकाम रहा. ब्राजील क्वार्टर फाइनल में बेल्जियम और जापान के बीच होने वाले मैच के विजेता से भिड़ेगा.

ब्राजील पहले हाफ के अंतिम 20 मिनटों में हावी रहा और दूसरे हाफ में अपना आक्रामक रवैया बरकरार रखा. नेमार भी गोल करने में सफल रहे. विलियन ने बायें छोर से मैक्सिको के लिए परेशानी खड़ी की. उन्होंने गोलपोस्ट के पास नीचे रहता हुआ क्रॉस दिया जिस पर गैब्रियल जीसस चूक गए लेकिन नेमार मुस्तैद थे और उन्होंने गेंद को गोल के हवाले करने में कोई गलती नहीं की.

नेमार ने इसके बाद दूसरा गोल करने में भी अहम भूमिका निभायी. वह बायें छोर से गेंद संभालकर आगे बढ़े और गोल की तरफ नीचा रहता हुआ शॉट जमाया जिसे ओचोआ ने रोकने की कोशिश की लेकिन फर्मिंगो तैयार थे जिन्होंने उसे गोलपोस्ट के हवाले कर दिया.

दोनों टीमों ने आक्रामक शुरुआत की लेकिन पहले 20 मिनट में मैक्सिको अधिक आत्मिवश्वास और लय में दिखा. इस बीच दोनों टीमों को मौके भी मिले लेकिन मैक्सिको के हिरविंग लजानो और ब्राजील के नेमार दोनों इन्हें नहीं भुना पाये.

ब्राजील की टीम ने धीरे-धीरे लय पकड़ी. नेमार के पास 25वें मिनट में अच्छा मौका था लेकिन मैक्सिको के गोलकीपर ओचोआ ने आगे आकर बड़ी खूबसूरती से उनका यह प्रयास विफल कर दिया.

ब्राजील दूसरे हाफ में शुरू से ही मैक्सिको पर हावी हो गया था. कोटिन्हो को ओचोआ ने गोल नहीं करने दिया लेकिन लगातार दबाव बनाने का उन्हें तब फायदा मिला जब नेमार ने गोल दागा.

नेमार का यह विश्व कप में छठा गोल था जिससे उन्होंने राबर्टो रिवलिनो और बबेटो की बराबरी की. ब्राजील की तरफ से विश्व कप में यह 227वां गोल था. इससे उसने जर्मनी को पीछे छोड़कर नया रिकॉर्ड बनाया.

विलियन बेहतरीन फॉर्म में थे. उन्होंने 63वें मिनट में भी मौका बनाया लेकिन ओचोआ ने फिर से बेहतरीन बचाव किया. मैक्सिको ने भी इस बीच कुछ अवसरों पर ब्राजील के डिफेंस में सेंध लगायी. ऐसे ही एक अवसर पर हेक्टर हरेरा ने आंद्रेस गुआर्डाडो को गेंद थमायी लेकिन उनका शॉट थियगो सिल्वा ने रोक दिया.

इस बीच ब्राजील कोच टिटे ने कोटिन्हो की जगह फर्मिंगो को उतारा जिन्होंने मैदान पर पांव रखने के दो मिनट और छह सेकेंड बाद ही गोल दाग दिया.

You May Also Like

English News