चाबहार पर चीन ने साधी चुप्पी, कहा- शांति और स्थिरता की करते हैं उम्मीद

चीन ने सोमवार को रणनीतिक महत्व के चाबहार बंदरगाह के पहले फेज के शुरू होने पर कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया, लेकिन कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि यह क्षेत्रीय शांति और स्थिरता को बढ़ावा देगा। भारतीय मदद से बने इस बंदरगाह से संबंधित प्रश्न कि चीन इस परियोजना पर क्या विचार रखता है, पर चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जेंग शुआंग ने सीधे टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।चाबहार पर चीन ने साधी चुप्पी, कहा- शांति और स्थिरता की करते हैं उम्मीद

Warning: अमेरिका ने दी पाकिस्तान को बड़ी चेतावनी, जानिए क्या कहा?

उन्होंने कहा, ‘बंदरगाह (चाबहार) को लेकर मैं आपको एक सैद्धांतिक जवाब देना चाहता हूं। हम क्षेत्रीय देशों के बीच मैत्रीपूर्ण संबंधों के विकास का स्वागत करते हैं और पारस्परिक रूप से लाभकारी सहयोग को बल देते हैं।’

शुआंग ने कहा कि हमें उम्मीद है कि यह सहयोग क्षेत्री शांति और स्थिरता व समृद्धि को बढ़ावा देने के लिए अनुकूल होगा। गौरतलब है कि चाबहार बंदरगाह पाकिस्तान के ग्वादर बंदरगाह से मात्र 140 किमी की दूरी पर है। ग्वादर का निर्माण चीन ने किया है। इसलिए चाबहार को चीन के लिए भारतीय जवाब माना जा रहा है।

 

You May Also Like

English News