चारे के बाद राशन , लालू के बाद केजरीवाल- बीजेपी

  बिहार के चारा घोटाले के बाद अब देश की राजधानी दिल्ली से एक बड़ा घोटाला सामने आ रहा है, सूत्रों के अनुसार दिल्ली में भी बिहार की ही तरह टैम्पो और छोटी-छोटी गाड़ियों पर चारे की तरह राशन ढोया जा रहा है. दिल्ली का यह अनाज घोटाला कैग (नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक) की रिपोर्ट में सामने आया है.  रिपोर्ट में कहा गया है कि जिन गाड़ियों से राशन की ढुलाई का जिक्र है, वह जांच में स्कूटर और बाइक निकले.नई दिल्ली: बिहार के चारा घोटाले के बाद अब देश की राजधानी दिल्ली से एक बड़ा घोटाला सामने आ रहा है, सूत्रों के अनुसार दिल्ली में भी बिहार की ही तरह टैम्पो और छोटी-छोटी गाड़ियों पर चारे की तरह राशन ढोया जा रहा है. दिल्ली का यह अनाज घोटाला कैग (नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक) की रिपोर्ट में सामने आया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि जिन गाड़ियों से राशन की ढुलाई का जिक्र है, वह जांच में स्कूटर और बाइक निकले. रिपोर्ट में कहा है कि दिल्ली में राशन जनता तक पहुँच ही नहीं रहा है और उसका गलत इस्तेमाल किया जा रहा है.इस खुलासे के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि इस मामले में सख्त कार्रवाई की जाएगी. इसके साथ ही, कैग की वित्तीय वर्ष 2016-17 आॅडिट रिपोर्ट में दिल्ली सरकार के कामकाज को लेकर गंभीर सवाल उठाये गये हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, राशन वितरण केंद्रों पर 1589 क्विंटल ढुलाई के लिए नौ ऐसी गाड़ियों का इस्तेमाल किया गया, जिनका रजिस्ट्रेशन नंबर तिपहिया वाहन, मोटर साइकिल और स्कूटर का था. कैग की रिपोर्ट आने के बाद कांग्रेस ने इस मामले की सीबीआई जांच की मांग की है वहीं भाजपा ने इस घोटाले में केजरीवाल सरकार की मिलीभगत बताई है, वहीं भाजपा के निशाने में घिरी दिल्ली सरकार ने इसे सम्बंधित विभाग के कर्मचारियों का भ्रष्टाचार बताया है. आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली में नौकरशाही बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार में लिप्त है. जो सामान गोदामों से राशन की दुकान पर पहुंचना चाहिए था, वह नहीं पहुंच रहा है.उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार इन भ्रष्टाचारियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही करेगी.

रिपोर्ट में कहा है कि दिल्ली में राशन जनता तक पहुँच ही नहीं रहा है और उसका गलत इस्तेमाल किया जा रहा है.इस खुलासे के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि इस मामले में सख्त कार्रवाई की जाएगी. इसके साथ ही, कैग की वित्तीय वर्ष 2016-17 आॅडिट रिपोर्ट में दिल्ली सरकार के कामकाज को लेकर गंभीर सवाल उठाये गये हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, राशन वितरण केंद्रों पर 1589 क्विंटल ढुलाई के लिए नौ ऐसी गाड़ियों का इस्तेमाल किया गया, जिनका रजिस्ट्रेशन नंबर तिपहिया वाहन, मोटर साइकिल और स्कूटर का था.

कैग की रिपोर्ट आने के बाद कांग्रेस ने इस मामले की सीबीआई जांच की मांग की है वहीं भाजपा ने इस घोटाले में केजरीवाल सरकार की मिलीभगत बताई है, वहीं भाजपा के निशाने में घिरी दिल्ली सरकार ने इसे सम्बंधित विभाग के कर्मचारियों का भ्रष्टाचार बताया है. आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली में नौकरशाही बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार में लिप्त है. जो सामान गोदामों से राशन की दुकान पर पहुंचना चाहिए था, वह नहीं पहुंच रहा है.उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार इन भ्रष्टाचारियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही करेगी.

You May Also Like

English News