चीन की धमकी: अमेरिका हिंद-प्रशांत क्षेत्र में मौजूद है

भारत का पड़ोसी देश चीन दक्षिण चीन सागर में अपने आस-पास वाले देशों को डराने के लिए व उन पर दबाव बनाये रखने के लिए अपनी मिसाइलों की तैनाती कर रहा है. इसी मामले में प्रतिक्रिया देते हुए अमेरिका के रक्षामंत्री जेम्स मैटिस ने कहा कि वॉशिंगटन इस क्षेत्र में अपनी भूमिका निभाने में कोई लापरवाही नहीं करना चाहता है.

बता दें की मैटिस सिंगापुर में शांग्रीला वार्ता में हिस्सा लेने गए थे. यहाँ मैटिस ने कहा, “कोई भूल मत कीजिए. अमेरिका हिंद-प्रशांत क्षेत्र में मौजूद है. यह हमारी प्राथमिकता है.” चीन के सन्य अधिकारी ने मैटिस के बयान को गैर-जिम्मेदाराना करार दिया. इस सालाना सम्मेलन में सुरक्षा अधिकारियों, ठेकेदारों और अकादमिक क्षेत्रों के लोगों ने हिस्सा लिया.

इसके साथ ही अमेरिका के विदेश मंत्री मैटिस ने दुनिया के सबसे व्यस्त समुद्री मार्गों में शुमार दक्षिण चीन सागर के कृत्रिम द्वीपों में बीजिंग को सैन्य गतिविधि बंद करने को कहा. उन्होंने कहा, “हमें मालूम है कि चीन को आने वाले वर्षों में भारी चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा. आगे यहाँ रक्षामंत्री जेम्स मैटिस ने कहा चीन अगर इस क्षेत्र में लंबी अवधि के लिए शांति और समृद्धि चाहता है तो अमेरिका उसे हर संभव मदद करने को तैयार हैं.”

You May Also Like

English News