चीन के बाद नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन को मिला रूस का सहारा

कहते हैं किसी डूबते को तिनके का सहारा ही काफी होता है. नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन को इस वक्त रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने कुछ ऐसा ही सहारा दिया है. पुतिन की नज़र में किम जोंग उन न सिर्फ समझदार बल्कि मंझे हुए सियासतदान हैं. पुतिन का ये बयान उस वक़्त आया है जब पूरे अमेरिका में राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के परमाणु बटन वाले ट्विट के बाद उनकी दिमागी हालत पर बहस हो रही है. ऐसे में सवाल ये है कि क्या वाकई पुतिन तानाशाह किम के बिग ब्रदर बन गए हैं या फिर अंदर की कहानी कुछ और है?चीन के बाद नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन को मिला रूस का सहारा

अभी-अभी: अमेरिकी संसद में 45 फीसदी ग्रीन कार्ड बढ़ाने वाला बिल पेश

संकट के लिए किम और ट्रंप जिम्मेदार

कोरियाई पेनिनसुला में जंग के हालात के लिए ज़िम्मेदार कौन है. बहुत से लोगों का कहना है कि इन हालात के लिए सिर्फ और सिर्फ उत्तर कोरिया का तानाशाह किम जोंग उन ज़िम्मेदार है. उसी की सनक ने उसके देश के साथ साथ पड़ोसी दक्षिण कोरिया पर बर्बादी और अब पूरी दुनिया पर विश्वयुद्ध का संकट ला दिया है. मगर कुछ ऐसे लोग भी हैं जो वर्ल्ड वॉर के इस संकट के लिए किम को नहीं बल्कि ट्रंप को ज़िम्मेदार ठहरा रहे हैं.

पुतिन ने की किम की तारीफ

रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने नार्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन की समझदारी की तारीफ की. पुतिन ने कहा ‘मेरे ख्याल से किम ने ये राउंड जीत लिया है.’ एक तरफ जहां किम जोंग उन के परमाणु बटन वाले बयान के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के बड़े परमाणु बटन के ट्विट ने उन्हें उनके ही देश में न सिर्फ निशाने पर ला दिया बल्कि उनकी मानसिक स्थिति पर भी सवाल उठे.. वहीं अब रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमिर पुतिन ने उत्तर कोरिया के मार्शल किम जोंग उन को समझदार और परिपक्‍व नेता बताकर बताकर दुनिया को हैरान कर दिया है.

किम को बताया विजेता

उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग उन और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच परमाणु हथियारों को लेकर जारी जुबानी जंग के बीच रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने किम जोंग उन को विजेता घोषित कर दिया है. जानकार इसे आग में घी डालने वाला बयान बता रहे हैं. मगर पुतिन के इस बयान से किम जोंग उन का सीना फूल कर चौड़ा हो गया है.

किम के परमाणु कार्यक्रम का जिक्र 

पत्रकारों से बातचीत में उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम की तरफ इशारा करते हुए पुतिन ने किम जोंग उन की तारीफ की और कहा. रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा ‘मेरे ख्याल से किम जोंग उन ने ये राउंड जीत लिया है. उन्होंने अपना रणनीतिक काम पूरा कर लिया है. उनके पास परमाणु मुखास्त्र और 13,000 किमी से अधिक दूरी तक की मारक क्षमता वाली मिसाइल है, जो व्यवहारिक रूप से दुनिया के किसी भी कोने तक अपनी पहुंच बना सकती है. अपने संभावित दुश्मन के क्षेत्र में कहीं भी निशाना बना सकती है.’

किम को लेकर बदला पुतिन का रुख

एक तरफ तो रूसी राष्ट्रपति पुतिन का हौंसला बढ़ाते हुए नज़र आ रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ अंतर्राष्ट्रीय बिरादरी के सामने उनका अलग ही रूख देखने को मिला था. आपको बता दें कि रूस ने संयुक्त राष्ट्र में उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम के खिलाफ लगे अतंरराष्ट्रीय प्रतिबंधों के पक्ष में न सिर्फ वोट किया था. बल्कि दूसरे देशों को भी ये कदम उठाने का आग्रह किया था. मगर अब किम जोंग उन के मामले में व्लादिमिर पुतिन बदले बदले से नज़र आ रहे हैं.

किम के लिए पुतिन का साथ संजीवनी जैसा

इतना ही नहीं पुतिन किम की तारीफ़ में लंबे-लंबे कसीदें पढ़ रहे हैं. उन्होंने किम को एक समझदार और परिपक्व नेता ही नहीं बताया है बल्कि कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव कम करने की उसकी कोशिशों की भी सराहना कर रहे हैं. हालांकि एक लंबे अरसे से कोरियाई पेनिनसुला में उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण को लेकर अमेरिका के साथ उसका तनाव चला आ रहा है. ऐसे में जब यूएन के ज़रिए तमाम देश उसका साथ छोड़ रहे हैं तब किम को पुतिन का साथ मिलना संजीवनी के मिलने जैसा है.

दबाव की राजनीति

हालांकि जानकार मान रहे हैं कि किम जोंग उन की तारीफ कर पुतिन अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों में रूस पर लगे उस मिलीभगत के आरोपों से ध्यान हटाने की कोशिश कर रहे हैं. जिसमें कहा गया कि रूस की सांठगांठ की वजह से ही ट्रंप को राष्ट्रपति चुनाव में जीत मिली. वहीं कुछ जानकारों का मानना है कि उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन की तारीफ कर रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन दबाव की राजनीति कर रहे हैं.

loading...

You May Also Like

English News