चीन ने दक्षिणी चीन सागर में पहली बार तैनात किए बमवर्षक विमान

चीन ने विवादित दक्षिण चीन सागर में पहली बार बमवर्षक विमान तैनात किए हैं. चीन के इस कदम पर अमेरिका ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की. अमेरिका ने कहा कि यह कदम क्षेत्र में तनाव और अस्थिरता को बढ़ाएगा.चीन ने विवादित दक्षिण चीन सागर में पहली बार बमवर्षक विमान तैनात किए हैं. चीन के इस कदम पर अमेरिका ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की. अमेरिका ने कहा कि यह कदम क्षेत्र में तनाव और अस्थिरता को बढ़ाएगा.  चीन की वायु सेना ने बताया कि उनके एच-6 के बमवर्षक सहित युद्धक विमानों ने हाल ही में दक्षिण चीन सागर में उड़ान भरने और उतरने का प्रशिक्षण लिया है.  हॉन्गकॉन्ग के दक्षिण चीन मोर्निंग पोस्ट में पीपुल्स लीबरेशन एयर फोर्स को यह कहते हुए उद्धृत किया,“ इस प्रशिक्षण ने वायु सेना के पूरे क्षेत्र में पहुंचने, पूरी क्षमता और सटीक समय में मार करने की क्षमता को बढ़ा दिया है.”  अमेरिका ने की तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त  चीन के इस कदम पर अमेरिका ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की और कहा कि यह कदम इस क्षेत्र में तनाव और अस्थिरता बढ़ाएगा.  पोस्ट की खबर के मुताबिक, पेंटागन के एक प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल क्रिस्टोफर लोगन ने इस अभ्यास को चीन की ओर से इस विवादित क्षेत्र का सैन्यकरण करने की कोशिश बताया है.

चीन की वायु सेना ने बताया कि उनके एच-6 के बमवर्षक सहित युद्धक विमानों ने हाल ही में दक्षिण चीन सागर में उड़ान भरने और उतरने का प्रशिक्षण लिया है.

हॉन्गकॉन्ग के दक्षिण चीन मोर्निंग पोस्ट में पीपुल्स लीबरेशन एयर फोर्स को यह कहते हुए उद्धृत किया,“ इस प्रशिक्षण ने वायु सेना के पूरे क्षेत्र में पहुंचने, पूरी क्षमता और सटीक समय में मार करने की क्षमता को बढ़ा दिया है.”

अमेरिका ने की तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त

चीन के इस कदम पर अमेरिका ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की और कहा कि यह कदम इस क्षेत्र में तनाव और अस्थिरता बढ़ाएगा.

पोस्ट की खबर के मुताबिक, पेंटागन के एक प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल क्रिस्टोफर लोगन ने इस अभ्यास को चीन की ओर से इस विवादित क्षेत्र का सैन्यकरण करने की कोशिश बताया है.

You May Also Like

English News