चीन पर भड़की सुषमा स्वराज ने कहा- भारत अपनी सीमाओं की रक्षा करने में है सक्षम, पहले डोकलाम से हटाए सेना..

संसद में मानसून सत्र के दौरान दोनों सदनों में जमकर हंगामा हुआ। लोकसभा में किसानों का मुद्दा उठने की वजह से हंगामा इस कदर बढ़ गया कि सदन को दोपहर तक के लिए स्थगित कर दिया गया। वहीं राज्यसभा में एच1बी वीजा समेत चीन की ओर बॉर्डर चीन की ओर से हो रही मनमानी का मुद्दा उठा।चीन पर भड़की सुषमा स्वराजराष्ट्रपति चुनाव: रामनाथ कोविन्द के घर लगा लोगों की भीड़ जुटना होगी शुरू…

सुषमा स्वराज ने कहा कि भारत अपनी सीमाओं की रक्षा करने में सक्षम हैं। उन्होंने चीन को साफ तौर पर कहा है कि पहले डोकलाम से उसे सेना हटानी पड़ेगी, तभी भारत अपनी सेना हटाए जाने पर विचार करेगा। सुषमा स्वराज ने कहा कि सिक्किम-भूटान-तिब्बत ट्राई जंक्शन पर चीन की ओर से हदें पार की जाती हैं, तो ये देश की सुरक्षा पर बड़ा चैलेंज होगा।

संसद में मानसून सत्र के दौरान विपक्ष ने पीएम मोदी के अमेरिका दौरे पर सवाल खड़े किए हैं। विपक्ष का कहना है कि पीएम मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के सामने एच1बी वीजा का मुद्दा क्यों नहीं उठाया। विपक्ष की ओर से कांग्रेस के नेता आनंद शर्मा ने ये बात उठाई और उन्होंने कहा कि केंद्र को इस तरह के बड़े मुद्दों को गंभीरता से लेना चाहिए।

चीन की ओर से ओबीओआर गतिविधियों पर भी सुषमा स्वराज ने सदन के सामने सरकार का पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि जैसे ही पता चला कि OBOR में CPEC को शामिल किया जा रहा है, वैसे ही देश ने विरोध करना शुरू कर दिया।
 
वहीं केंद्र की ओर से सफाई पेश करते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि एच1बी वीजा का नाम नहीं लिया गया, लेकिन इस मुद्दे से जुड़ी कई अहम बातों पर पीएम और अमेरिकी राष्ट्रपति के बीच जिक्र हुआ। साथ ही पीएम मोदी ने ट्रंप को भारतीय इंजीनियरों की प्रतिभा का अहसास कराया और ये बताया कि वो अमेरिका की इकोनॉमी में किस कदर अहम भूमिका निभा रहे हैं।

You May Also Like

English News