चुनाव के रूझान से भाजपाइयों में खुशी की लहर, अधिकतर जगहों पर भाजपा को बढ़त!

लखनऊ: यूपी विधानसभा के साथ ही साथ चार अन्य राज्यों में हुए चुनाव के रूझान मिलना शुरू हो गये हैं। यूपी में 273 सीटों के रुझान मिल रहे रहे हैं जिसमें भाजपा, सपा और बसपा से आगे चल रही है। रुझानों में भाजपा को बहुमत मिल गया है। केशव प्रसाद मौर्या ने पीएम मोदी को बताया यूपी की जीत की बड़ी वजह ।  


सुबह 10.20 बजे का रूझान
यूपी में भाजपा सबसे आगे. भाजपा 279, सपा 74, बसपा 25, और अन्य 12
बरेली की 9 में से छह सीटों पर भाजपा आगे
यूपी में सपा और कांग्रेस के खिलाफ जनादेश
खार सीट से आजम खान का बेटा पीछे
लखनऊ की 9 में से आठ सीटों पर भाजपा को बढ़त
मायावती का बुरा हाल रुझानों में मिल रही केवल 25 सीटें
मऊ और गाजीपुर में अंसारी परिवार पीछे
भाजपा को 41 फीसद वोट
गोरखपुर से भाजपा के राधामोहन आगे
62 दलित सीटों पर भी भाजपा को बढ़त
दादरी से भाजपा के तेजपाल आगे
मुस्लिम बहुल सीटों पर भी भाजपा को बढ़त
1991 के बाद सबसे बड़ी जीत की ओर भाजपा 1991 में भाजपा को मिली थीं 221 सीटें
यूपी में जातिगण समीकरण ध्वस्त दूसरे और तीसने स्थान के लिए सपा बसपा में लड़ाई
नोयडा से पंकज सिंह आगे
संगीत सोम आगे
मुख्तार अंसारी का परिवर पीछे
शिवपाल यादव पीछे
लखनऊ कैंट से मुलायम सिंह यादव की बहु अर्पणा यादव पीछे
अमरमणि त्रिपाठी आगे
जितिन प्रसाद पीछे
कुंडा से राजा भैया पीेछे
पिंडरा से अजय राय पीछे
गायत्री प्रजापति आग
सुबह 8.15 बजे  उत्तर प्रदेश की 403 विधानसभा सीटों के लिए मतगणना जारी है। पोस्टक बैलट की गिनती हुई। इसमें भी भाजपा को बढ़त मिली।

यूपी में सात चरणों में चुनाव कराया गया था। पहले चरण में 15 जिलों की 73 विधानसभा सीटों पर 11 फरवरी को वोट डाले गए थे। दूसरे चरण में 11 जिलों की 67 सीटों के लिए 15 फरवरी को वोट डाले गए थे। तीसरे चरण में 69 सीटों पर 19 फरवरी को चुनाव कराया गया था। चौथे चरण में 53 सीटों पर 23 फरवरी को वोटिंग हुई। पांचवें चरण में 52 सीटों के लिए 27 फरवरी को और छठे चरण में 49 सीटों पर 4 मार्च को चुनाव हुआ था। सातवें चरण में 40 सीटों पर 8 मार्च को वोट डाले गए।

4853 उम्मीदवारों की किस्मत का होगा फैसला
2017 के विधानसभा चुनाव में 4853 उम्मीदवारों ने अपना भाग्य आजमाया जिसमें 4370 पुरुष, 482 महिला प्रत्याशियों ने हिस्सा लिया। बसपा ने सबसे ज्यादा 403 उम्मीदवार उतारे। भारतीय जनता पार्टी ने 384 उम्मीदवार खड़े किए। समाजवादी पार्टी ने 311 विधानसभाओं में उतारे उम्मीदवार जबकि कांग्रेस ने 114 स्थानों पर उम्मीदवारों को उतारा था। इन चुनावों में कुल 1462 निर्दलीय उम्मीदवारों ने भी चुनाव में उम्मीदवारी की।

You May Also Like

English News