चुनाव नतीजों की उलटी गिनती शुरू, उम्मीदवारों की धड़कनें बढ़ीं

पंजाब विधानसभा के लिए 4 फरवरी को हुए मतदान की 11 मार्च को होने वाली गणना के बाद आने वाले परिणामों के बीच सिर्फ 3 दिन का फासला बचा है। अब इस चुनाव में उम्मीदवारों के भविष्य की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है। 117 विधानसभा क्षेत्र, 52 पार्टियों के 1145 उम्मीदवार मैदान में होने से बने दिलचस्प त्रिकोणीय मुकाबले के कारण आने वाले परिणाम राज्य के भविष्य के लिए काफी अहम माने जा रहे हैं। पुरानी परम्परागत पाॢटयों अकाली दल व कांग्रेस के साथ पहली बार विधानसभा चुनाव में मुकाबले में उतरी नई पार्टी आम आदमी पार्टी के कारण चुनाव अभियान में स्थिति काफी रोचक रही जिस कारण अब आम आदमी भी परिणामों की बड़ी बेसब्री से प्रतीक्षा में है।

पंजाब सचिवालय चमकाने का कार्य जारी
वहीं दूसरी तरफ 11 मार्च को घोषित होने वाले परिणामों के बाद बनने वाली नई सरकार के स्वागत की तैयारी भी चंडीगढ़ स्थित पंजाब सचिवालय में शुरू हो चुकी है। सरकार के मुख्यालय बहुमंजिले सचिवालय की साफ -सफाई का कार्य चल रहा है। पूरी तरह से सीमैंटिड ऊंची बिल्डिंग विशेष मशीनों के माध्यम से पानी से धोकर चमकाई जा रही है। सचिवालय प्रशासन के अधिकारियों ने मंत्रियों के कमरों व नए स्टाफ की व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए होमवर्क भी शुरू कर दिया है। 

नए मुख्यमंत्री व मंत्रियों के साथ तैनाती के लिए जुगाड़बाजी शुरू 
सचिवालय के स्टाफ  ने नए मुख्यमंत्री व नए मंत्रियों के साथ अपनी तैनाती करवाने के लिए भी उच्चाधिकारियों तक पहुंचकर जुगाड़बाजी शुरू कर दी है। राज्य सरकार की छवी को लोगों में चमकाने वाले सूचना व जनसंपर्क विभाग ने भी अपने रिकार्ड को अपडेट करने का कार्य शुरू कर रखा है। इसी सिलसिले में सरकार से मान्यता प्राप्त पत्रकारों से भी नई सैलरी स्लिपों के अलावा उनकी नियुक्ति आदि के बारे में नए दस्तावेज मांगे जा रहे हैं। 

मतगणना प्रबंधों को पुख्ता कर रहे अधिकारी 
इसी तरह अलग-अलग जिलों में मतगणना के प्रबंधों को भी अंतिम रूप दिया जा रहा है। मतगणना केंद्रों में कुर्सीयों, टेबलों व अन्य साजो-सामान का उचित प्रबंध करने के साथ-साथ इन केंद्रों की सुरक्षा को पुख्ता करने के लिए बैरिकेडिंग के लिए भी कार्रवाई शुरू हो चुकी है। चुनाव आयोग ने सभी मतगणना केंद्रों पर कड़ी सुरक्षा करने के राज्य के चुनाव अधिकारियों को विशेष निर्देश दिए हैं। 

उम्मीदवारों के लिए 3 दिन निकालने हुए मुश्किल
मतगणना के बाद से आराम फरमा रहे उम्मीदवार भी आराम की मुद्रा से बाहर आकर अपने हलकों में पहुंच चुके हैं। सभी उम्मीदवारों की धड़कनें बढ़ चुकी हैं और उनके लिए अब बचे 3 दिन निकालने बड़े मुश्किल हो रहे हैं। संगरूर व भटिंडा जैसे जिलों से मिली रिपोर्टों के अनुसार अलग-अलग पार्टियों के उम्मीदवारों ने अपनी जीत के जश्न मनाने की तैयारी भी शुरू कर दी है।

कई उम्मीदवारों ने तो अभी से लड्डुओं के ऑर्डर देने के अलावा ढोल आदि की बुकिंग करवानी भी शुरू कर दी है। परिणाम का दिन निकट आते ही लोगों में उम्मीदवारों की जीत को लेकर लाखों रुपए की शर्तें लगाने का सिलसिला भी चल रहा है तथा असली परिणामों से पहले 9 मार्च की शाम को टी.वी. चैनलों पर शुरू होने वाले एग्जिट पोल की भी प्रतीक्षा की जा रही है

You May Also Like

English News