चैंपियंस ट्रॉफी: आज ओवल में ऑस्ट्रेलिया-बांग्लादेश के बीच होगी,मुकाबला..

चैंपियंस ट्रॉफी में सोमवार को केनिंगटन ओवल मैदान पर ऑस्ट्रेलिया का मुकाबला बांग्लादेश से होगा। ऑस्ट्रेलिया की टीम बांग्लादेश के खिलाफ अपने गेंदबाजों से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद करेगी। न्यूजीलैंड के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाजों का प्रदर्शन ज्यादा अच्छा नहीं रहा था हालांकि बारिश के कारण रद्द हुए मैच में दोनों टीमों को एक-एक अंक मिल गया था। न्यूजीलैंड ने उस मैच में 45 ओवरों में 291 रन का बड़ा स्कोर बनाया था। जब ऑस्ट्रेलिया को 33 ओवरों में 235 रन का संशोधित लक्ष्य मिला था तब नौ ओवरों में ऑस्ट्रेलिया ने 53 रन पर तीन विकेट भी गंवा दिए थे। दूसरी ओर बांग्लादेश की टीम अपने पहले मैच में इंग्लैंड के खिलाफ हार गई थी लेकिन उनके बल्लेबाजों ने जरूर अच्छा प्रदर्शन किया था। तमीम इकबाल और पूर्व कप्तान महमुदुल्लाह की मदद से टीम तीन सौ से ज्यादा का स्कोर बना पाई थी लेकिन इंग्लैंड ने आसानी से 306 का लक्ष्य हासिल कर लिया था। जोए रूट ने 133 रन की पारी खेली थी। चैंपियंस ट्रॉफी: आज ओवल में ऑस्ट्रेलिया-बांग्लादेश के बीच होगी,मुकाबला..अभी-अभी: स्वतंत्रता सेनानी ट्रेन में लगी आग, चारों तरफ मच हाहाकार…
दोनों टीमों के सामने नॉकआउट जैसी स्थिति
बांग्लादेश
चैंपियंस ट्रॉफी का फॉर्मेट कुछ ऐसा है कि पहले मैच के बाद ही दोनों टीमों के सामने नॉकआउट जैसी स्थिति खड़ी हो गई है। एक तरफ जहां बांग्लादेश को टूर्मामेंट के पहले मुकाबले में जहां इंग्लैंड के सामने बेहतरीन बल्लेबाजी करने के बावजूद 8 विकेट से हार का सामना करना पड़ा।  वहीं दूसरी तरफ न्यूजीलैंड के खिलाफ बारिश के कारण ऑस्ट्रेलिया को अंक बांटने पड़े। ऐसे में दोनों टीमों के लिए सेमीफाइनल का सफर तय करने के लिए इस मैच में जीत हासिल करना अहम हो गया है। दोनों ग्रुपों में शीर्ष दो स्थानों पर रहने वाली टीम सेमीफाइनल में प्रवेश करेगी। ऐसे में बांग्लादेशी टाइगर भी अपनी ओर से कोई कोर-कसर नहीं रखेंगे।
बांग्लादेश के खिलाफ केवल एक बार मिली है हार
स्टीव स्मिथ की टीम  को लगता है कि बांग्लादेश न्यूजीलैंड की अपेक्षा कुछ कमजोर है। बांग्लादेश के खिलाफ 20 वनडे मैचों में से केवल 1 बार ऑस्ट्रेलिया को हार का सामना करना पड़ा है। वह मैच भी साल 2011 में खेला गया था। पिछले पांच-छह सालों में बांग्लादेश को ऑस्ट्रेलिया के सामने हार ही मिली है। भले ही बंगाल टाइगर्स दूसरी टेस्ट टीमों का शिकार करने में सफल रही हो लेकिन कंगारुओं का मात देना उनके लिए अभी भी टेढ़ी खीर ही है।  केनिंगटन ओवल में होने वाले ग्रुप ए मुकाबले में सोमवार को ऑस्ट्रेलिया को बेहतर प्रदर्शन करने की जरूरत होगी क्योंकि बांग्लादेश अब कमजोर टीम नहीं रह गई है और सीमित ओवरों में उसकी चुनौती को हल्के में नहीं लिया जा सकता। इसमें कोई आश्चर्य नहीं होगा अगर वह ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के खिलाफ भी प्रभावशाली प्रदर्शन करते नजर आएं। उनके गेंदबाज भी असर छोड़ने में सक्षम हैं। एक और हार बांग्लादेश की टीम को सेमीफाइनल की होड़ से बाहर कर देगी।
पिच करेगी स्पिन गेंदबाजों को मदद
तमीम इकबाल
भले ही बांग्लादेश ऑस्ट्रेलिया के सामने कमजोर नजर आ रही हो लेकिन उसे इस मैच में बहतरीन खेल दिखाना होगा। कीवी गेंदबाजों के सामने उनकी पारी लड़खड़ा ही गई थी। इसलिए कई बड़ी टीमों का धूल चटाचुकी बांग्लादेश को उसे हलके में नहीं लेना चाहिए। जोश हैजलवुड को छोड़कर उनका और कोई गेंदबाज न्यूजीलैंड के सामने फॉर्म में नहीं दिखा था। शनिवार को जिस पिच पर श्रीलंका और दक्षिण अफ्रीका के बीच मैच खेला गया था उसी पिच पर कंगारुओं का सामना बांग्लादेश से होना है। इसका मतलब पिच पर गेंद थोड़ी स्पिन होगी। इसका मतलब बांग्लादेश को पांच गेंदबाजों के साथ मैदान में उतरना पड़ेगा वहीं ऑस्ट्रेलिया को एक तेज गेंदबाज को बाहर का रास्ता दिखाकर एडम जांपा को अंतिम ग्यारह में शामिल करना पड़ेगा। 

दोनों टीमें इस प्रकार हैं:
ऑस्ट्रेलिया: स्टीव स्मिथ (कप्तान), डेविड वॉर्नर, ऐरोन फिंच, पैट कमिंस, जॉन हेस्टिंग्स, जोश हेज्लवुड, ट्रेविस हेड, हेनरिक्स, क्रिस लिन, ग्लेन मैक्सवेल, जेम्स पैटिनसन, मिचेल स्टार्क, मार्क्स स्टोइनिस, मैथ्यू वेड, एडम जांपा। 
बांग्लादेश: मशरफे मुर्तजा (कप्तान), शाकिब अल हसन, मुशफिकुर रहीम, तमीम इकबाल, मोहम्मद महमुदुल्लाह, शब्बीर रहमान, रूबेल हुसैन, सौम्य सरकार, तस्कीन अहमद, मुस्ताफिजुर रहमान, इमरूल कयास, मेहदी हसन, मुसादिक हुसैन, सुंजामुल इस्लाम और शफीउल इस्लाम। 

You May Also Like

English News