चैंपियंस ट्रॉफी: आज टीम इंडिया का ‘विराट’ होगा इम्तिहान, अफ्रीका के खिलाफ करो या मरो का महा मुकाबला

आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में आज ओवल के मैदान पर भारत और दक्षिण अफ्रीका की टीमें आमने-सामने होंगी. अगर भारत को चैंपियंस ट्रॉफी के सेमीफाइनल में पहुंचना है, तो उसे दुनिया की नंबर वन वनडे टीम को हराना होगा. हालांकि ये मुकाबला इतना आसान भी नहीं होगा. लेकिन अगर टीम इंडिया का हर खिलाड़ी अपनी काबिलियत के हिसाब से खेला तो भारत के लिए मैच जीतना कठिन भी नहीं होगा.

चैंपियंस ट्रॉफी: आज टीम इंडिया का 'विराट' होगा इम्तिहान, अफ्रीका के खिलाफ करो या मरो का महा मुकाबलाअभी अभी: ‘दंगल गर्ल’ का भयानक हुआ एक्सीडेंट, चली गई….

कप्तान विराट की हुंकार
साउथ अफ्रीका से करो या मरो के मैच से पहले टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने कहा, क्रिकेटर के रूप में निजी तौर पर मुझे इस तरह के मैच पसंद हैं. आप इस तरह की मैचों का हिस्सा बनना चाहते हैं जो क्वाटर फाइनल मैच की तरह महत्वपूर्ण होते हैं और अगर आप इसमें अच्छा प्रदर्शन करते हैं और आपकी टीम जीत हासिल करती है तो फिर वह एक अलग तरह का अहसास होता है. इससे क्रिकेटर के रूप में आप में सुधार होता है. हर कोई इस तरह के मैच का हिस्सा बनना चाहता है.

हिट है रोहित-धवन की जोड़ी
शिखर धवन और रोहित शर्मा ने इस चैंपियंस ट्रॉफी में टीम को शानदार शुरुआत दी है. दोनों ही मैचों में शतकीय साझेदारी करने वाले रोहित और शिखर ने पाकिस्तन के खिलाफ 136 और और श्रीलंका के खिलाफ 138 रन जोड़े. धवन अब तक दो मैचों में से 193 रन और रोहित 169 रन बना चुके हैं. ऐसे में बदलाव की कोई गुंजाइश ही नहीं है.

मिडिल ऑर्डर और फीनिशर
टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली नंबर 3 पर टीम के लिए खेलते रहेंगे. श्रीलंका के खिलाफ खाता भी न खोल पाने वाले कोहली ने पाकिस्तान के खिलाफ 81 रनों की धमाकेदार नाबाद पारी खेली थी. कोहली के अलावा टीम के पास नंबर 4 पर युवराज सिंह जैसा बल्लेबाज है. बल्ले से श्रीलंका के खिलाफ शांत रहने वाले युवी ने पाकिस्तान के खिलाफ ताबड़तोड़ पारी खेली थी.

वनडे क्रिकेट में महेंद्र सिंह धोनी से बड़ा कोई फीनिशर नहीं. श्रीलंका के खिलाफ 52 गेंदों में 63 रन जड़ने वाले धोनी अगर थोड़ा जल्दी हाथ खोलते, तो शायद भारत 350 के पार होता. इसके अलावा भारत के पास केदार जाधव भी होंगे, नंबर 6 पर आकर तेजी से रन बनाने के अलावा बड़ी पारी भी खेल सकते हैं.

गेंदबाजी में होगा बदलाव?
टीम इंडिया के गेंदबाजी क्रम में बदलाव होने की गुंजाइश थोड़ी कम है. भुवनेश्वर कुमार और उमेश यादव की जगह टीम में तय है. साथ ही कोहली जसप्रीत बुमराह के स्थान के साथ भी कोई छेड़छाड़ करें. अगर मोहम्मद शमी टीम में आए शामिल किए भी जाते हैं, तो किस गेंदबाज की जगह टीम में आएंगे. शमी के आने पर बुमराह को बाहर बैठना पड़ सकता है. हालांकि इस मैच में अश्विन भी खेल सकते हैं तो बाहर कौन बैठेगा? ये देखना दिलचस्प होगा. 

दुश्मन है ताकतवर
अफ्रीका की टीम काफी संतुलित है.उसके पास विश्व का नंबर एक बल्लेबाज एबी डिविलियर्स और विश्व का नंबर एक गेंदबाज रबाडा हैं. बल्लेबाजी में डिविलियर्स के अलावा अनुभवी हाशिम अमला, विस्फोटक क्विंटन डि कॉक, फाफ डु प्लेसिस और जेपी ड्यूमिनी जैसे धुरंधर शामिल हैं. डेविड मिलर अपने विस्फोटक तेवरों के लिए जाने जाते हैं जबकि क्रिस मोरिस और वेन पार्नेल की आलराउंड क्षमता टीम को संतुलन प्रदान करती है. अफ्रीकी खिलाड़ियों के प्रदर्शन का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि उसके चार बल्लेबाज और दो गेंदबाज आईसीसी रैंकिंग में शीर्ष दस में शामिल हैं.

मैच पर है बारिश का साया
केनिंगटन ओवल में आयोजित इस मैच पर अगर बारिश का साया पड़ता है और मैच रद्द होता है तो भी टीम इंडिया सेमीफाइनल में पहुंच सकती है. मैच रद्द होने की परिस्थिति में भारत को एक अंक मिलेगा, जिससे टीम इंडिया के पास 3 अंक हो जाएंगे. वहीं साउथ अफ्रीका के पास भी तीन अंक होंगे. ऐसे में सेमीफाइनल में पहुंचने वाली टीम का फैसला रन रेट के आधार पर होगा. टीम इंडिया (+1.272) इस मामले में साउथ अफ्रीका से (+1.00) से कहीं आगे है. ऐसे में भारत सीधे सेमीफाइनल के लिए क्वालिफाई कर जाएगा.

क्या है पूरा समीकरण
ग्रुप बी की बाकी दो टीमों श्रीलंका और पाकिस्तान के खिलाफ भी 2-2 अंक हैं. 12 जून को इन दोनों टीमों का मैच कार्डिफ में खेला जाएगा. इस मैच में जीतने वाली टीम 4 अंकों के साथ सेमीफाइनल में पहुंच जाएगी. अगर ये मैच भी बारिश की वजह से रद्द हो गया और दोनों ही टीमों के पास 3-3 अंक हो गए तो नेट रन रेट के हिसाब से भारत सेमीफाइनल में पहुंच जाएगा. हालांकि क्रिकेट प्रशंसक यही चाहेंगे कि टीम इंडिया साउथ अफ्रीका को हराकर सेमीफाइनल में पहुंचे.

संभावित प्लेइंग इलेवन
भारत: शिखर धवन, रोहित शर्मा, विराट कोहली(कप्तान), युवराज सिंह, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), केदार जाधव, हार्दिक पंड्या, रवींद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह.

दक्षिण अफ्रीका : क्विंटन डी कॉक (विकेटकीपर), हाशिम अमला, फाफ डु प्लेसिस, एबी डिविलियर्स (कप्तान), डेविड मिलर, जे पी ड्यूमिनी, वेन पार्नेल, कगिसो रबाडा, क्रिस मोरिस, मोर्ने मोर्केल और इमरान ताहिर.

You May Also Like

English News