चैंपियंस ट्रॉफी: पहले सेमीफाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ इंग्लैंड का हुआ पलड़ा भारी

अपनी मेजबानी में चैंपियंस ट्रॉफी जीतने का सपना बुन रही मेजबान इंग्लैंड की टीम का बुधवार को पाकिस्तान से पहले सेमीफाइनल में मुकाबला होगा। तीन बार विश्व कप के फाइनल में पहुंचने वाली इंग्लैंड की टीम को 50 ओवरों के वैश्विक टूर्नामेंट में 42 सालों से खिताब का इंतजार है। पिछली बार चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में पहुंचने वाली इंग्लैंड टीम का दावा इस बार बेहद मजबूत माना जा रहा है।चैंपियंस ट्रॉफी: पहले सेमीफाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ इंग्लैंड का हुआ पलड़ा भारी

चैंपियंस ट्रॉफी: वनडे रैंकिंग में टॉप पर पहुंचे विराट, शिखर की ऊंची छलांग

उधर भारत के खिलाफ पहले मैच में हार के बाद जोरदार वापसी करने वाली पाकिस्तान टीम खास दिन बेहतर करने की क्षमता रखती है लेकिन फिर भी इयोन मॉर्गन की अगुवाई वाली मेजबान टीम का पलड़ा भारी माना जा रहा है। पिछले विश्व कप में इंग्लैंड की टीम पहले दौर में बाहर हो गई थी लेकिन उसके बाद टीम के प्रदर्शन में बेहद सुधार आया है। 

पिछले साल पाकिस्तान को दी थी करारी मात

बेन स्टोक्स
पिछले साल इंग्लैंड ने अपने घरेलू मैदानों पर पाकिस्तान को द्विपक्षीय सीरीज में 4-1 से पराजित किया था। ट्रेंटब्रिज में खेले गए मुकाबले में टीम ने तीन विकेट पर 444 रन का विश्व रिकॉर्ड स्कोर बनाया था।  यह इस बात का सबूत है कि वनडे फॉर्मेट में इंग्लैंड टीम अपनी पकड़ मजबूत करती जा रही है। बेन स्टोक्स के रूप में टीम के पास बेहतरीन ऑलराउंडर हैं जो किसी भी विपक्षी टीम के खिलाफ गेंद और बल्ले से समान रूप से बेहतरीन प्रदर्शन करने की क्षमता रखते हैं। डरहम के इस खिलाड़ी को आईपीएल-10 में भी सबसे ज्यादा कीमत मिली थी। 

जो रूट के रूप में मेजबानों के पास बेहतरीन खिलाड़ी है जिनके इर्द-गिर्द टीम की बल्लेबाजी घूमती है। मध्यक्रम में खुद कप्तान मॉर्गन और जोस बटलर प्रभावशाली हैं। ओपनिंग में एलेक्स हेल्स और जैसन राय हैं लेकिन जैसन की फॉर्म अभी अच्छी नहीं चल रही है ऐसे में हो सकता है कि पाकिस्तान के खिलाफ जॉनी बेयरस्टो को मौका मिल जाए। तेज गेंदबाजी में जैक बॉल और लियाम प्लंकेट के साथ मार्क वुड पर जिम्मेदारी है। मार्क वुड टखने की सर्जरी के बाद लौटे हैं लेकिन उनकी गति में कोई कमी नहीं है। टूर्नामेंट में अभी तक इंग्लैंड की टीम ही सबसे मजबूत नजर आ रही है जिसने एक भी मैच नहीं हारा है और लगातार तीन मुकाबले जीतकर सेमीफाइनल में पहुंची है। 

पाकिस्तानी क्रिकेट टीम

पाकिस्तान की टीम का मनोबल ग्रुप बी के अंतिम लीग मैच में श्रीलंका के खिलाफ कप्तान सरफराज की जुझारू बल्लेबाजी और तेज गेंदबाजों के प्रभावशाली प्रदर्शन से बढ़ा होगा। टीम के युवा ओपनर फाखर जमां के अंदाज भी आक्रामक हैं जिन्होंने श्रीलंका के खिलाफ 36 गेंदों पर 50 रन की पारी खेली थी। मध्यक्रम की बल्लेबाजी पाकिस्तान के लिए चिंता का सबब होगी। पाकिस्तान के कप्तान सरफराज ने कहा है कि मोहम्मद हफीज और शोएब मलिक से हमें बड़ी उम्मीद हैं कि नॉकआउट दौर में वह सही फॉर्म में आ जाएंगे। मोहम्मद आमिर, जुनैद खान और हसन अली की पेस तिकड़ी के रूप में पाकिस्तान के आक्रमण में धार है। फहीम भी प्रतिभाशाली हैं। इंग्लैंड को भी पता है कि अगर माफिक हालात मिल जाएं तो पाक पेस बैटरी कहर ढा सकती है।

टीमें इस प्रकार हैं: 
इंग्लैंड : इयोन मॉर्गन (कप्तान), मोइन अली, जॉनी बेयरस्टो, जैक बॉल, सैम बिलिंग्स, एलेक्स हेल्स, जोस बटलर, लियाम प्लकेंट, आदिल राशिद, जोए रूट, जैसन रॉय, बेन स्टोक्स, डेविड विली, क्रिस वोक्स, मार्क वुड, स्टीवन फिन। 
पाकिस्तान : सरफराज खान (कप्तान), अहमद शहजाद, अजहर अली, बाबर आजम, फहीम अशरफ, फाखर जमां, हैरिस सुहैल, हसन अली, इमाद वसीम, जुनैद खान, मोहम्मद अमीर, मोहम्मद हफीज, शादाब खान और शोएब मलिक।  

You May Also Like

English News