चैंपियंस ट्रॉफी: PAK को भारत का ‘पंच’, इन 5 खिलाड़ियों ने एकतरफा किया मैच

रविवार को इंग्लैंड के बर्मिंघम में खेले गए आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के मैच में भारत ने पाकिस्तान को बड़ी मात दी. एजबैस्टन स्टेडियम में जब दोनों टीमों के कप्तान टॉस के लिए उतरे तो पाकिस्तानी कैप्टन सरफराज ने टॉस जीत लिया और भारत को बल्लेबाजी का न्यौता दिया. पाकिस्तान टीम को उम्मीद थी कि विकेट में नमी का फायदा उठाकर भारतीय टीम को शुरुआती झटके दिए जा सकते हैं, लेकिन मैदान पर इसका एकदम उल्टा हुआ. भारतीय बल्लेबाजों ने पाकिस्तानी गेंदबाजों की जमकर पिटाई की. भारत की तरफ से यूं तो पूरी टीम ने ही जबरदस्त खेल का मुजाहिरा किया. लेकिन कुछ खिलाड़ी ऐसे रहे जिन्होंने सुपर संडे को शानदार बना दिया और दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया.चैंपियंस ट्रॉफी: PAK को भारत का 'पंच', इन 5 खिलाड़ियों ने एकतरफा किया मैच

अभी-अभी: स्वतंत्रता सेनानी ट्रेन में लगी आग, चारों तरफ मच हाहाकार…

ये हैं वो 5 खिलाड़ी जिन्होंने बदल दिया मैच का रुख

रोहित शर्मा
रोहित शर्मा, शिखर धवन के साथ ओपनिंग करने उतरे. रोहित ने मैच की पहली गेंद पर स्ट्राइक ली. पाकिस्तान की तरफ से मोहम्मद आमिर ने पहला ओवर किया. आमिर ने पहले ओवर में अच्छी स्विंग कराई और पूरे ओवर में रोहित शर्मा को बीट किया. हालांकि उसके बाद रोहित ने धीरे-धीरे अपनी पारी को आगे बढ़ाया और शानदार अर्धशतक जड़ा. रोहित ने 2 छक्कों और 7 चौकों की मदद से 91 रनों की पारी खेली.

विराट कोहली
शिखर धवन के आउट होने के बाद कप्तान विराट कोहली पिच पर उतरे. कोहली ने काफी सधी हुई शुरुआत की. लेकिन रोहित की तरह उन्होंने भी धीरे-धीरे अपनी इनिंग्स को आगे बढ़ाया. फिफ्टी मारने के बाद कोहली का बल्ला आग उगलने लगा और उन्होंने ताबड़तोड़ छक्कों-चौकों की बरसात कर दी. कोहली ने 68 गेंदों में 81 रनों की नाबाद पारी खेली. जिसमें उन्होंने 3 छक्के और 6 चौके लगाए.

युवराज सिंह
भारतीय खेमे की तरफ से सबसे विस्फोटक और जानदार पारी युवराज सिंह ने खेली. युवराज एक बार फिर अपने पुराने और अटैकिंग अंदाज में नजर आए. युवराज ने पाकिस्तान के किसी भी गेंदबाज को नहीं बख्शा. यही वजह है कि उन्होंने महज 32 गेंदों में 53 रन बनाए. युवराज ने अपनी पारी में 1 छक्का और 8 चौके लगाए. शानदार बैटिंग के लिए युवराज को मैन ऑफ द मैच से नवाजा गया.

रवींद्र जडेजा
रवींद्र जडेजा को बल्लेबाजी का मौका तो नहीं मिला, लेकिन वो एक बार टीम के लिए मैच विनिंग फैक्टर बने. जडेजा ने गेंद पकड़ते ही अपने जलवे दिखाने शुरु कर दिए. पाकिस्तान के ओपनर बल्लेबाज अजहर अली को उन्होंने लगातार परेशान किया. साथ ही उनके अनुभवी बल्लेबाज हफीज को भी सिंगल के लिए तरसा दिया. जिसका नतीजा ये हुआ कि अजहर जल्दबाजी कर गए और फाइन लैग में कैच दे बैठे. इसके बाद रन रेट बढ़ाने के मकसद बड़े शॉट खेलने की कोशिश कर रहे हफीज को भी जडेजा ने भुवनेश्वर के हाथों कैच कराकर पाकिस्तानी बैटिंग की रीड़ तोड़ दी. जडेजा ने बॉलिंग से कमाल के साथ फील्डिंग में भी जबरदस्त काम किया. पहले उन्होंने उमेश यादव की गेंद पर बाबर आजम का कैच लपका, उसके बाद पाकिस्तान के सबसे अनुभवी बल्लेबाज शोएब मलिक को डायरेक्ट थ्रो से रन आउट किया.

हार्दिक पंड्या
हार्दिक पंड्या ने एक बार भारतीय टीम के लिए शानदार ऑलराउंटर की भूमिका निभाई. पहले उन्होंने आखिरी ओवरों में ताबड़तोड़ बैटिंग की. पंड्या आखिरी ओवर में लगातार तीन छक्के मारते हुए 6 गेंदों में 20 रन बनाकर नाबाद रहे. इसके बाद उन्होंने बॉलिंग और फील्डिंग में भी अपने जौहर दिखाए. पंड्या ने पांचवे गेंदबाद की कमी को बखूबी पूरा किया और अपने सधी हुई बॉलिंग लाइन के आगे पाक बल्लेबाजों को रनों के लिए सुखा दिया. पंड्या ने 8 ओवरों में 43 रन देकर 2 विकेट लिए. पंड्या ने अजहर अली का शानदार कैच भी लिया.

इन पांच भारतीय खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन ने पाकिस्तान को पूरे मैच में जमने नहीं दिया. पूरे मैच में कहीं भी ऐसा नजर नहीं आया जब पाकिस्तान की मैच में वापसी हुई हो. भारत ने चैंपियंस ट्रॉफी का अपना ये पहला मैच 124 रनों से जीता.

You May Also Like

English News