चैम्पियंस ट्रॉफी: भज्जी ने धोनी को निशाना बना के BCCI पर दागी गोली

चैम्पियंस ट्रॉफी में नहीं चुने जाने को लेकर टीम इंडिया के स्टार स्पिनर हरभजन सिंह ने बड़ा बयान दिया है। भज्जी ने कहा कि चैंपियंस ट्राफी के लिए टीम चयन मामले में उन्हें पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी जैसी तरजीह नहीं मिली है।भज्जी ने धोनी को निशाना बना BCCI पर दागी गोलीयह भी पढ़े: पापा सौरव गांगुली के साथ बेटी सना की तस्वीरें हुई वायरल

भज्जी ने आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के लिए धौनी को टीम में शामिल किए जाने का हवाला देते हुए कहा कि धौनी की तरह ही वो भी अनुभवी और सीनियर खिलाड़ियों में शामिल हैं। लेकिन चैंपियंस ट्रॉफी के लिए हुए टीम चयन के समय उनके अनभुव और वरिष्ठता पर विचार नहीं किया गया।

एक चैनल से बात करते हुए हरभजन ने कहा, ‘धौनी टीम के कप्तान रह चुके हैं, इसलिए वो खेल को भलीभांति समझते हैं। मिडिल ऑर्डर में उनकी मौजूदगी से युवा खिलाड़ियों को काफी मदद मिलती है। लेकिन मुझे लगता है कि टीम चयन मामले में धौनी जैसी तरजीह मुझे नहीं दी गई।’

उन्होंने कहा, ‘हम भी देश के लिए 19 साल से क्रिकेट खेलते आ रहे हैं और इस दौरान हमने कई मैच जीते और हारे हैं। मुझे दो वर्ल्ड कप जीतने का भी अनुभव है। इसलिए ऐसी तरजीह कुछ खिलाड़ियों को ही मिलती है और मैं भी उनमें से एक हूं। लेकिन फिर भी मुझे नहीं पता कि ऐसे मामले क्यों सामने आते हैं।’

 स्टार ऑफ स्पिनर ने चैंपियंस ट्रॉफी के लिए चयन समिति की बैठक में गौतम गंभीर और खुद के नाम पर विचार न करने को लेकर भी चयनकर्ताओं की आलोचना की। भज्जी ने कहा, ‘ईमानदारी से कहूं तो ये सही नहीं है। हम अधिक टूर्नामेंट में इसलिए खेलते हैं ताकि भारत के लिए हमारा चयन हो सके। गंभीर ने हाल में काफी रन बनाए हैं। अश्विन को आईपीएल-10 से इसलिए आराम दिया गया था ताकि वो चैंपियंस ट्रॉफी के लिए फिट रह सकें।’

आपको बता दें कि धौनी की फॉर्म पर भी लगातार सवाल उठे हैं। धौनी ने इसी साल की शुरुआत टीम इंडिया की वनडे और टी-20 कप्तानी छोड़ी थी।

36 वर्षीय हरभजन सिंह भारत के लिए अब तक 103 टेस्ट, 236 वनडे और 28 टी-20 इंटरनेशनल मैच खेल चुके हैं। हरभजन टेस्ट में 417, वनडे में 269 और टी-20 में 25 विकेट ले चुके हैं।

You May Also Like

English News