चोरों ने फिर मोबाइल शाप को बनाया निशान, डेढ़ लाख की नकदी व लाखों के मोबाइल लेके फरार


लखनऊ , 30 नवम्बर । विकासनगर इलाके में एक मोबाइल शोरूम को चोरों ने अपना निशाना बनाया। चोर शोरूम को शटर उठाकर अंदर घुसे और वहां से डेढ़ लाख की नकदी और करीब 40 लाख रुपये के मोबाइल फोन चोरी कर ले गये। चोरी की सूचना पर पहुंची पुलिस हर बार की तरह खानापूर्ति कर बैरंग लौट गयी। चोरों ने फिर मोबाइल शाप को बनाया निशान, डेढ़ लाख की नकदी व लाखों के मोबाइल लेके फरार
 
विकासनगर के सेक्टर-2 निवासी राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि घर के पास ही उनका श्रीराम काम्यूनिकेशन नाम से मोबाइल का शोरूम है। सोमवार की रात रोज की तरह वह अपनी दुकान बंद करके घर चले गये। देर रात किसी समय चोरों ने उनकी दुकान पर धावा बोल दिया और शटर उठाकर अंदर घुस गये। इसके बाद चोरों ने बड़ी आराम से शोरूम का एक-एक कोना खंगाला। चोर शोरूम से डेढ़ लाख की नकदी व 40 लाख रुपये कीमत के मोबाइल फोन उठा ले गये। नकदी व मोबाइल फोन बटोरने के बाद चोर बड़ी आराम से वहां से भाग निकले और किसी को भनक तक नहीं लगी। मंगलवार की सुबह होने पर जब राजकुमार अपनी दुकान पहुंचे तो देखा कि दुकान का शटर उठा हुआ है। उन्होंने जब शटर को पूरी तरह उठाया और अंदर पहुंचे तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गयी। अंदर रखा सारा सामान बिखरा पड़ा था। ड्राजें टूटी हुई थीं। दुकानदार ने फौरन इस बात की सूचना पुलिस कंट्रोल रूम को दी। सूचना मिलते ही मौके पर विकासनगर पुलिस भी पहुंच गयी। पुलिस ने छानबीन के लिए डाग स्क्वायड व फिंगर प्रिंट यूनिट को भी बुला लिया। फिंगर प्रिंट टीम ने शोरूम से कुछ अंगुलियों के निशान उठाये हैं और उनको जांच के लिए फारेंसिक लैब भेज दिया। इसके अलावा पुलिस को इस मामले में कोई सफलता हाथ नहीं लगी। हर बार की तरह पुलिस खानापूर्ति कर वापस लौट गयी। कारोबारी राजकुमार अग्रवाल का कहना है कि वह चोर गये मोबाइल फोन का सारा ब्योरा जमा कर पुलिस को दे देंगे। 
 
दुकानदारों ने रिंग रोड पर सड़क जाम कर किया प्रदर्शन
मोबाइल शाप में लाखों की चोरी की खबर जब स्थानीय दुकानदारों को लगी तो वह लोग भी वहां जमा हो गये। व्यापारियों ने पुलिस गश्त न होने का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन शुरू कर दिया। नाराज दुकानदारों ने रिंग रोड जाम कर प्रदर्शन किया और इस मामले के जल्द खुलासे की मांग की। प्रदर्शन की सूचना पर पहुंची विकासनगर पुलिस ने दुकारदारों को जल्द खुलासे का आश्वासन देकर शांत कराया। पांच दिन में तीन मोबाइल शोरूम में चोरी 95 लाख रुपये का माल अब तक जा चुका है चोरी गये मोबाइल फोन पर सर्विलांस सेल की नज़र अब तक ऑन नहीं हुए चोरी के एक भी फोन 24 नवम्बर आशियाना की एलडीए चौकी से चंद कदमों की दूरी पर सेक्टर एच में चेतन्या हाईज प्लाजा में ओमेक्स सिटी निवासी विकास जैन की मोबाइल दुकान से चोर 40 लाख का माल चोरी कर ले गये। चोरों की पूरी सीसीटीवी फुटेज कैमरे में रिकार्ड हुई। बावजूद इसके बाद तक पुलिस चोरों का कोई सुराग नहीं लगा सकी है।  26 नवम्बर गोमतीनगर के विरामखंड इलाके में अंकुर महरोत्रा की हुसडिय़ा चौराहे के पास देवा पैलेज में उनकी मोबाइल मंत्रा नाम की दुकान से चोर 15 लाख रुपये का सामान चोरी कर ले गये। इस मामले में भी पुलिस ने चोरी की रिपोर्ट दर्ज तो की पर अब तक चोरों का कोई सुराग नहीं लगा सकी है। 
पांच दिन मेें तीन बड़े मोबाइल शोरूम में चोरी की इस घटना ने शहर में रात्रि गश्त पर सवालिया निशान खड़े कर दिये हैं। लाख दावों के बावजूद भी पुलिस चोरों के हौसलों के आगे पस्त नज़र आ रही है। पुलिस के सूत्र बताते हैं कि अचानक मोबाइल शोरूम में चोरी की घटनाएं इस बात की तरफ इशारा कर रही हैं कि शहर में कोई ऐसा गैंग एक्टिव है जो सिर्फ मोबाइल दुकान को अपना टारगेट बना रहा है। पुलिस को इस बात की भी आशंका है कि चोरों का यह गैग राजधानी का नहीं है बल्कि कहीं बाहर से आकर वारदात को अंजाम दे रहा है। आशियाना, गोमतीनगर व विकासनगर से चोरी गये मोबाइल फोन का पुलिस ने ट्रेकिंग पर तो लगा दिया है पर अब तक एक भी मोबाइल फोन प्रयोग नहीं किया गया है। शायद यही वजह से सर्विलांस का हथियार काम नहीं कर पा रहा है। पुलिस व सर्विलांस सेल उस वक्त के इंतजार में है जब चोरी गये मोबाइल फोन ऑन हो और पुलिस को उनकी लोकेशन मिल सके। पुलिस के सूत्र बताते हैं कि चोरों का यह गैंग अपने शहर जाकर चोरी के मोबाइल फोन को सस्त दामों में लोगों के हाथ बेच देता है। चोरों का यह गैंग जब लाखों का माल एक शहर से जमा कर लेता है तो वह लोग शहर छोड़कर अपने ठीकाने पर पहुंच जाते हैं और वहां मोबाइल बेचने के बाद दूसरे टारगेट पर निकलते हैं। 
 
 
 
 

You May Also Like

English News