जानें क्‍या हुआ अंजाम जब सातवीं में पढ़ने वाली छात्रा थी टीचर के प्यार में पागल

पटना: महज़ सातवी क्लास में पढ़नेवाली छात्रा पर अपने शिक्षक से ही इश्क का ऐसा भूत चढ़ा की प्रेमी के घर पहुच कर गले में फंदा डाल अपनी जीवन लीला ही समाप्त कर ली। मामला बिहार के दरभंगा जिला अंतर्गत केवटी थाने के सोहना गांव की है।

सातवी क्लास में पढ़नेवाली माला कुमारी गांव के ही एक शिक्षक राम इकबाल साह के यहां पिछले चार साल से ट्यूशन पढ़ने जाती थी इसी दौरान छात्रा ने अपने शिक्षक को दिल दे बैठी और धीरे धीरे इन दिनों का मुहबत परवान चढ़ने लगा। इसी बीच इसकी भनक लड़की के घरवालो को लग गयी तब लड़की के घरवालो ने तत्काल लड़की का ट्यूशन ही बंद करा दिया।

जानें क्‍या हुआ अंजाम जब सातवीं में पढ़ने वाली छात्रा थी टीचर के प्यार में पागल

परिजनों की शख्ती के कारण गुरु के प्यार में दीवानी माला अपने प्रेमी गुरु से मिल तो नहीं पाती थी पर अपने परिवार से छुपते छिपाते मोबाइल पर अक्सर बाते किया करती थी।

आत्महत्या से एक दिन पहले ही लड़की को मोबाइल पर अपने प्रेमी से बात करते हुए उसकी मां ने रंगे हाथ पकड़ लिया और मोबाइल छीन लड़की को जबरदस्त डांट फटकार की गई। जिसके बाद लड़की ने मौका मिलते ही घर से कब भाग निकली किसी को पता भी नहीं चला। 24 घंटे बाद माला की लाश उसके प्रेमी के घर फंदे से लटका मिलने के बाद इलाके में सनसनी फैल गई। जबकि प्रेमी घर छोड़ फरार है। मौके पर पुलिस पहुंच कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

पुलिस इसे प्रेम प्रसंग से जोड़कर आत्महत्या देख रही है। जबकि मृतक के पिता भी प्रेम प्रसंग की बात तो मानते है पर आत्महत्या की बात से इंकार करते हुए राम इकबाल पर हत्या का आरोप लगा रहे है।

घटना दरभंगा जिले की है जहां सोनहान गांव में मंगलवार को नाबालिग लड़की ने अपने प्रेमी के घर में जाकर फांसी लगाकर सुसाइड कर ली। कोचिंग में पढाने वाला टीचर उस नाबालिग छात्रा के घर के सामने ही रहता था। मिली जानकारी के मुताबिक छात्रा नौ साल की उम्र से ही कोचिंग के टीचर को बहुत पसंद करती थी। उससे बेइंतहा प्यार करती थी लेकिन टीचर राम इकबाल उसे बच्ची का बचपना समझता था।

You May Also Like

English News