छुट्टियां कटने पर मदरसा शिक्षकों ने योगी सरकार से जताई नाराजगी….

मदरसों का 10 दिनों का विशेष अवकाश खत्म होने से मोहर्रम के महीने में दिक्कतें आएंगी। वहीं रमजान की छुटिटयों मे बदलाव होने से दूरदराज के शिक्षकों और छात्रों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा।छुट्टियां कटने पर मदरसा शिक्षकों ने योगी सरकार से जताई नाराजगी....
टीचर्स एसोसिएशन मदारिसे अरबिया के महामंत्री हाजी दीवान साहेब जमां खां ने मुख्यमंत्री व मदरसा बोर्ड के रजिस्ट्रार को पत्र भेजकर कहा कि 2018 में 97 दिन की जगह 86 दिन की छुट्टियां कर दी गई हैं।

उन्होंने वार्षिक अवकाश 47 दिन के बजाय 42 दिन करने और 10 दिन की विशेष छुट्टी समाप्त करने पर नाराजगी जताई। वार्षिक अवकाश अब तक 19 शबान रमजान के 10 दिन पहले से और 5 शाबान यानि ईद के पांच दिन बाद तक होता है। इस बार यह अवकाश 28 शाबान यानि रमजान के दो दिन पहले शुरू होगा जबकि 29 शाबान को चांद होने की संभावना रहती है और इसी रात से तरावीह की नमाज होती है। ऐसे में दूरदराज के छात्र और शिक्षक गंतव्य तक कैसे पहुंच पाएंगे।

मोहर्रम पर 1 से 12 तारीख तक आयोजन

मोहर्रम पर 1 से 12 तारीख तक आयोजन होते हैं। 10 दिन का विशेष अवकाश मोहर्रम के साथ जोड़ने की व्यवस्था से आयोजन आसानी से हो जाते थे।
इनके समाप्त होने से तमाम परेशानियां बढ़ेंगी। उन्होंने कहा कि 2015 की अवकाश तालिका में 98 दिन का अवकाश है। इसका अनुसरण करने से 10 दिन का विशेष अवकाश तथा वार्षिक अवकाश का समायोजन हो सकता है। 

You May Also Like

English News