जंगलों की आग बुझाने में महिलाओं से संभाला मोर्चा, एक महिला घायल

आग से धधक रहे टौंस वन प्रभाग के जंगलों में लगी आग को बुझाने में ग्रामीण महिलाओं ने मोर्चा संभाला हुआ है। इस दौरान आग एक महिला पहाड़ी से फिसलकर घायल हो गई। उसकी स्थिति खतरे से बाहर है। 

इन दिनों समूचे उत्तराखंड के जंगल आग से धधक रहे हैं। वन विभाग जहां आग बुझाने में जुटा है, वहीं ग्रामीण भी आग को गांव तक पहुंचने से रोकने के लिए मोर्चा संभाले हुए है। 

उत्तरकासी जिले के टौंस वन प्रभाग के जरमोला, रामा, सुराणु, सेरी, पोरा, सुकडाला, नोरी बीट के चीड़ के जंगलों में गत रात से भीषण आग लगी है। आग को बुझाने में पूरी रात भर वन कर्मियों के साथ ही ग्रामीण और महिलाएं जुटे रहे। 

आज तड़के आग बुझाने के दौरान धेवरा गांव की देवेश्वरी पहाड़ी से फिसल गई। इससे वह घायल हो गई। घायल महिला को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पुरोला लाया गया। प्राथमिक उपचार के बाद उसे छुट्टी दे दी गई। 

आग बुझाने में कविता देवी, बसंती देवी, बसी देवी, अनिता देवी, सावित्री देवी, राधिका देवी, सरोज देवी दक्षिणा देवी, राजेश्वरी देवी, रंजना देवी, लोकेंद्र प्रसाद, अनिल, विनोद, सिद्धि प्रसाद हरीश प्रसाद, मनीराम आदि जुटे रहे। वहीं मुखेम रेंज के जंगल में लगी आग को बुझाने में डांग गांव के ग्रामीणों ने बड़ी भूमिका निभाई।

You May Also Like

English News