जंगल में गुम हुए 2 साल के जापानी बच्चे की तलाश हुर्इ पूरी, मिला सुरक्षित

भाषा समाचार एजेंसी की एक खबर के मुताबिक बीते रविवार को एक 2 साल का मासूम जापानी बच्चा वहां के पश्चिमी इलाके में जंगल में लापता हो गया था।  अब पता चला है कि करीब तीन दिन बाद उसे सकुशल ढूंढ लिया गया है। बच्चे के बारे में मिली जानकार के अनुसार इस अवधि में वो सिर्फ नदी का पानी पीकर जीवित रहा। जबसे जानकारी मिली थी बचावकर्मी उसको तलाश करने के अभियान में पूरी क्षमता से  जुटे हुए थे।भाषा समाचार एजेंसी की एक खबर के मुताबिक बीते रविवार को एक 2 साल का मासूम जापानी बच्चा वहां के पश्चिमी इलाके में जंगल में लापता हो गया था।  अब पता चला है कि करीब तीन दिन बाद उसे सकुशल ढूंढ लिया गया है। बच्चे के बारे में मिली जानकार के अनुसार इस अवधि में वो सिर्फ नदी का पानी पीकर जीवित रहा। जबसे जानकारी मिली थी बचावकर्मी उसको तलाश करने के अभियान में पूरी क्षमता से  जुटे हुए थे।  घूमने निकला था   सूत्रों के अनुसार ये बच्चा जिसका नाम योशिकी फुजिमोतो बताया जा रहा है रविवार की सुबह यामागुची क्षेत्र में उस समय लापता हो गया जब वह अपने भाई और दादा के साथ घूमने निकला था। इतने छोटे बच्चे के जंगल में लापता होने की खबर से हलचल मच गर्इ आैर पूरे देश में उसकी चर्चा होने लगी। उसके तलाशी अभियान की हर जानकारी के लिए लोगों में गहरी उत्सुकता भी देखी गर्इ।  इसके बाद पुलिस और स्थानीय लोगों ने योशिकी की तलाश में पूरे जंगल में सघन तलाशी लेनी शुरू की। जिसके बाद बुधवार की सुबह एक 78 साल के एक बुजुर्ग की नजर बच्चे पर पड़ी। इस व्यक्ति का नाम हारुओ ओबाता बताया जा रहा है जिसके अनुसार उसने बच्चे को एक चट्टान पर नंगे पैरों को हल्के पानी में डूबोये हुए बैठे देखा।     एक जापानी चोर को तलाश रहे हैं 3000 पुलिसवाले क्योंकि वो उनके साथी के जूते चुरा कर भागा है यह भी पढ़ें नदी ने बचार्इ जान   खबर के मुताबिक इस समय जापान में भीषण गर्मी पड़ रही है इसलिए तीन दिन बाद बच्चे का जीवित मिलना किसी चमत्कार की तरह माना जा रहा है। लोगों का मानना है  कि इसका कारण सिर्फ उस जंगल में मौजूद कर्इ छोटी बड़ी नदियां ही हो सकती हैं। जिनका पानी पीकर आैर उनसे पैदा हुर्इ नमी के कारण बच्चे की जान बच सकी। बच्चे के परिवार वालों का कहना है कि योशिकी बीते सोमवार को ही दो साल का हुआ है। फिल्हाल उसका स्थानीय अस्पताल में इलाज हो रहा है। यहां के चिकित्सकों के अनुसार वो बिल्कुल ठीक है आैर उसे कोर्इ गंभीर चोट नहीं आर्इ है। शरीर पर खरोंचें हैं और थोड़ा सा डिहाइड्रेशन है।

घूमने निकला था 

सूत्रों के अनुसार ये बच्चा जिसका नाम योशिकी फुजिमोतो बताया जा रहा है रविवार की सुबह यामागुची क्षेत्र में उस समय लापता हो गया जब वह अपने भाई और दादा के साथ घूमने निकला था। इतने छोटे बच्चे के जंगल में लापता होने की खबर से हलचल मच गर्इ आैर पूरे देश में उसकी चर्चा होने लगी। उसके तलाशी अभियान की हर जानकारी के लिए लोगों में गहरी उत्सुकता भी देखी गर्इ।  इसके बाद पुलिस और स्थानीय लोगों ने योशिकी की तलाश में पूरे जंगल में सघन तलाशी लेनी शुरू की। जिसके बाद बुधवार की सुबह एक 78 साल के एक बुजुर्ग की नजर बच्चे पर पड़ी। इस व्यक्ति का नाम हारुओ ओबाता बताया जा रहा है जिसके अनुसार उसने बच्चे को एक चट्टान पर नंगे पैरों को हल्के पानी में डूबोये हुए बैठे देखा।  

नदी ने बचार्इ जान 

खबर के मुताबिक इस समय जापान में भीषण गर्मी पड़ रही है इसलिए तीन दिन बाद बच्चे का जीवित मिलना किसी चमत्कार की तरह माना जा रहा है। लोगों का मानना है  कि इसका कारण सिर्फ उस जंगल में मौजूद कर्इ छोटी बड़ी नदियां ही हो सकती हैं। जिनका पानी पीकर आैर उनसे पैदा हुर्इ नमी के कारण बच्चे की जान बच सकी। बच्चे के परिवार वालों का कहना है कि योशिकी बीते सोमवार को ही दो साल का हुआ है। फिल्हाल उसका स्थानीय अस्पताल में इलाज हो रहा है। यहां के चिकित्सकों के अनुसार वो बिल्कुल ठीक है आैर उसे कोर्इ गंभीर चोट नहीं आर्इ है। शरीर पर खरोंचें हैं और थोड़ा सा डिहाइड्रेशन है।

You May Also Like

English News