जंग से केजरीवाल समेत चार कैबिनेट मंत्री मिले

उपराज्यपाल नजीब जंग ने इस्तीफा भेजने के एक दिन बाद शुक्रवार को आधिकारिक फाइलों को दरकिनार करके मुलाकात करने में समय व्यतीत किया। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, श्रममंत्री गोपाल राय, इमरान हुसैन, मुख्य सचिव डॉ. एमएम कुट्टी के अलावा डीडीए और दिल्ली पुलिस के अधिकारी भी राजनिवास में उपराज्यपाल से मिले। इस बीच खबर है कि राष्ट्रपति छुट्टी पर हैं, जब तक इस्तीफा मंजूर नहीं होता जंग पद पर बने रहेंगे।
जंग से केजरीवाल समेत चार कैबिनेट मंत्री मिले
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल राजनिवास सुबह आठ बजे नजीब जंग से मिलने पहुंच गए। करीब एक घंटे की मुलाकात के बाद निकले केजरीवाल ने मीडिया से कहा कि जंग साहब से नाश्ते पर बुलाया था। मुलाकात हुई। लेकिन इस्तीफा देने को लेकर कोई खास बात नहीं हुई। इसलिए इस्तीफा देने का आधिकारिक कारण निजी ही माना जा सकता है।

1000 जमा कराए हों या एक लाख, कल से आपके अकांउट की होगी जांच

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मुलाकात खत्म होने के बाद उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पहुंचे। सिसोदिया ने मुलाकात के बाद कहा कि नजीब जंग साहब के साथ करीब दो साल काम के खट्टे मीठे अनुभव रहे हैं। विशेष तौर पर मेरे साथ तो बहुत अच्छा रहा है। शिक्षा के लिए काम किया है। इस्तीफा देने के कारणों की चर्चा को लेकर सिसोदिया ने कहा कि निजी कारणों से पिछले एक साल से पद छोड़ना चाहते थे। लेकिन डेंगू-चिकनगुनिया जैसे कई ऐसे मामले हुए जिससे नहीं छोड़ पाए।

दिल्ली में रोजाना 6 महिलाओं के साथ होता है गैंगरेप

फाइलों पर काम नहीं किया, पहुंचे पीएमओ
राजनिवास सूत्रों का कहना है कि पीएमओ में मुलाकात के लिए जाने के अलावा दफ्तर में फाइलों पर काम नहीं किया। ज्यादातर समय मिलने वाले आते रहे। उनसे इस्तीफे को लेकर कुछ लोगों बात की तो कुछ सिर्फ मिलकर बाहर आ गए। हालांकि इस्तीफा देने का कारण परिवार को समय देना ही बताया है जिसमें उनकी मां की 95 साल के होने और राजनिवास के काम में उनके लिए समय कम निकलने की बात भी कही गई।

 
 

You May Also Like

English News