जनकपुर-अयोध्या बस सेवा शुरू, PM मोदी बोले- ऐतिहासिक कदम, बढ़ेगा टूरिज्म

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय दौरे पर नेपाल में हैं. शुक्रवार सुबह 10.30 बजे नेपाल के जनकपुर पहुंचे पीएम मोदी का भव्य स्वागत किया गया. इसके बाद प्रधानमंत्री सीधे जानकी मंदिर रवाना हुए, जहां उन्होंने विधि-विधान के साथ पूजा अर्चना की.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय दौरे पर नेपाल में हैं. शुक्रवार सुबह 10.30 बजे नेपाल के जनकपुर पहुंचे पीएम मोदी का भव्य स्वागत किया गया. इसके बाद प्रधानमंत्री सीधे जानकी मंदिर रवाना हुए, जहां उन्होंने विधि-विधान के साथ पूजा अर्चना की.  पूजा के बाद पीएम मोदी ने भाषण दिया और जनकपुर-अयोध्या के बीच मैत्री बस सेवा का शुभारंभ किया. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि भारत और जनकपुर का नाता अटूट है और मैं सौभाग्यशाली हूं, जो माता जानकी के चरणों में आने का मौका मिला.  पीएम ने बताया ऐतिहासिक पल  पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा, 'ये ऐतिहासिक पल है कि नेपाल के प्रधानमंत्री स्वयं काठमांडू से यहां आए और मेरा स्वागत-सम्मान किया. मैं नेपाल सरकार का, राज्य सरकार और नगर सरकार का और आदरणीय पीएम का आभार व्यक्त करता हूं. नेपाल ने जो सम्मान दिया है, वो हजारों वर्षों की परंपरा और सवा सौ करोड़ हिंदुस्तानियों का सम्मान है.'  इससे आगे पीएम मोदी ने कहा, 'सबसे ज्यादा ग्रोथ आज के वक्त में टूरिज्म का है. रामायण सर्किट दोनों देशों के करोड़ों यात्रियों के लिए एक बड़ी मिसाल है. इससे टूरिज्म को बढ़ावा मिलेगा. दोनों देश मिलकर इसे प्रारंभ कर रहे हैं. आज जनकपुर-अयोध्या सीधी बस सेवा का प्रारंभ हो रहा है, मैं इसके लिए भी नेपाल के पीएम का आभार व्यक्त करता हूं. दोनों देशों के नागरिकों के बीच संबंधों को बढ़ाने में यह कदम काफी अहम रहेगा.'  बतौर प्रधानमंत्री ये नरेंद्र मोदी का तीसरा नेपाल दौरा है. उन्होंने कहा कि मेरे लिए खुशी की बात है कि जिस यूपी के बनारस ने मुझे प्रधानमंत्री बनाया और उसी यूपी के अयोध्या से जनकपुर की बस सर्विस शुरू हो रही है.  इससे पहले जब पीएम मोदी जानकी मंदिर की ओर गए तो रास्ते में लोग भारत और नेपाल का झंडा लेकर खड़े नजर आए. इतना ही नहीं वहां मोदी-मोदी और जानकी माता की जय के नारे भी लगाए गए.

पूजा के बाद पीएम मोदी ने भाषण दिया और जनकपुर-अयोध्या के बीच मैत्री बस सेवा का शुभारंभ किया. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि भारत और जनकपुर का नाता अटूट है और मैं सौभाग्यशाली हूं, जो माता जानकी के चरणों में आने का मौका मिला.

पीएम ने बताया ऐतिहासिक पल

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा, ‘ये ऐतिहासिक पल है कि नेपाल के प्रधानमंत्री स्वयं काठमांडू से यहां आए और मेरा स्वागत-सम्मान किया. मैं नेपाल सरकार का, राज्य सरकार और नगर सरकार का और आदरणीय पीएम का आभार व्यक्त करता हूं. नेपाल ने जो सम्मान दिया है, वो हजारों वर्षों की परंपरा और सवा सौ करोड़ हिंदुस्तानियों का सम्मान है.’

इससे आगे पीएम मोदी ने कहा, ‘सबसे ज्यादा ग्रोथ आज के वक्त में टूरिज्म का है. रामायण सर्किट दोनों देशों के करोड़ों यात्रियों के लिए एक बड़ी मिसाल है. इससे टूरिज्म को बढ़ावा मिलेगा. दोनों देश मिलकर इसे प्रारंभ कर रहे हैं. आज जनकपुर-अयोध्या सीधी बस सेवा का प्रारंभ हो रहा है, मैं इसके लिए भी नेपाल के पीएम का आभार व्यक्त करता हूं. दोनों देशों के नागरिकों के बीच संबंधों को बढ़ाने में यह कदम काफी अहम रहेगा.’

बतौर प्रधानमंत्री ये नरेंद्र मोदी का तीसरा नेपाल दौरा है. उन्होंने कहा कि मेरे लिए खुशी की बात है कि जिस यूपी के बनारस ने मुझे प्रधानमंत्री बनाया और उसी यूपी के अयोध्या से जनकपुर की बस सर्विस शुरू हो रही है.

इससे पहले जब पीएम मोदी जानकी मंदिर की ओर गए तो रास्ते में लोग भारत और नेपाल का झंडा लेकर खड़े नजर आए. इतना ही नहीं वहां मोदी-मोदी और जानकी माता की जय के नारे भी लगाए गए.

You May Also Like

English News