जनमाष्‍टमी : इस्‍कॉन में रशियन केक का भोग, थाईलैंड और मलेशिया के फूलों की सजावट

कन्हैया के जन्मदिन को मनाने के लिए ईस्ट ऑफ कैलाश स्थित इस्कॉन मंदिर में तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। जन्माष्टमी पर कन्हैया को 1008 प्रकार के व्यंजनों का भोग लगाने के साथ सौ प्रकार के रशियन केक का भी भोग लगाया जाएगा। मंदिर को थाईलैंड और मलेशिया से मंगाए गए फूलों से सजाया गया है। कोलकाता से मंगाए गए गेंदा और मोगरा के फूलों का प्रयोग भी मंदिर को सजाने में किया गया है।

पूरी है तैयारी

इस्कॉन के राष्ट्रीय संपर्क निदेशक बृजेंद्र नंदन दास ने बताया कि जन्माष्टमी पर इस्कॉन मंदिर में श्री कृष्ण के गर्भगृह में नाचते हुए मोर को दिखाया जाएगा और ऊपर शिखर चक्र बनाया गया है। मटकी, बांसुरी और मोर पंखों के जरिये मंदिर का आकर्षण और बढ़ा दिया गया है। रंगीन झूलता हुआ झूमर भी लोगों को यहां आकर्षित करेगा।

आठ लाख श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद

कन्हैया को जिन रशियन केक का भोग लगाया जाएगा, वह सौ प्रकार के केक रशियन भक्तों की ओर से तैयार किए जाएंगे। वृंदावन और दिल्ली के कारीगरों की ओर से तैयार किए गए वस्त्र और आभूषणों से राधा-कृष्ण का श्रृंगार किया जाएगा। मंदिर के मुख्य द्वार पर कृष्ण की 24 लीलाओं के कट आउट लगाए गए हैं। उन्होंने बताया कि इस बार जन्माष्टमी पर मंदिर में आठ लाख श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद है। सभी भक्तों को ठंडाई और फलों का प्रसाद दिया जाएगा।

You May Also Like

English News