जब अमिताभ बच्चन के घर शराब पीकर पहुंचे थे संजय दत्त

बॉलीवुड के महानायक हर त्योहार को बड़े ही हर्ष और उत्साह से मनाते हैं। साल 2016 की दिवाली भी उन्होंने खबू जोरशोर से मनाई थी। इस दौरान उन्होंने अपने घर पर बॉलीवुड के स्टार्स के लिए दिवाली पार्टी भी रखी थी। वहीं बॉलीवुड के बड़े-बड़े सितारे यहां मौजूद थे। अमिताभ के बेटे अभिषेक बच्चन और बहू ऐश्वर्या राय बच्चन ने सारे स्टार्स का गेट पर खड़े होकर अभिनंदन किया। दोनों पति पत्नी इस दौरान अपने घर के दरवाजे पर खड़े हर स्टार का स्वागत करते नजर आए।जब अमिताभ बच्चन के घर शराब पीकर पहुंचे थे संजय दत्त

वहीं बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त भी अमिताभ बच्चन की पार्टी में दिवाली को सेलेब्रेशन के लिए पहुंचे। इस दौरान संजय दत्त शराब पीकर अमिताभ बच्चन के घर पर आए। संजय दत्त शराब के नशे में पूरी तरह से धुत थे। उनके पै र इस दौरान लड़खड़ा रहे थे। भीड़ से निकलते हुए वह ऐश्वर्या और अभिषेक के पास पहुंचे और उन्हें ‘हैप्पी दिवाली’ विश किया। संजय दत्त ने इस दौरान क्रीम कलर का कुर्ता पहना हुआ है। वहीं सेलेब्रेशन के बाद वह वापस जाने के लिए अपनी गाड़ी में बैठे थे। तभी उनके फैंस ने उन्हें आवाज लगाना शुरू कर दिया। इस दौरान फैंस चिल्ला-चिल्ला कर उन्हें बाबा कह कर पुकार रहे थे। इसके बाद संजय दत्त ने गाड़ी से उतर कर अपने फैंस को न सिर्फ हेल्लो किया बल्कि उनके पास जाकर उनसे हाथ भी मिलाया।

वहीं बॉलीवुड के खलनायक से नायक बनने वाले संजय दत्त अपनी अपकमिंग फिल्म ‘भूमि’ की तैयारी में जोर शोर से लगे हुए हैं। खबर है कि संजय दत्त उस वक्त इमोशनल हो गए थे, जब उन्होंने इस फिल्म की स्क्रिप्ट सुनी। इतना ही नहीं वह स्क्रिप्ट सुन कर रो भी पड़े थे। बता दें, संजय इस बात से काफी सरप्राइज थे कि राजा शांडिल्या ने इस फिल्म की स्क्रिप्ट दो महीने में ही कंपलीट कर ली। यह फिल्म एक इमोशनल और सेंसेटिव रिवेंज ड्रामा है। जो एक बाप बेटी के रिश्ते को बयां करता है। संजय दत्त इस फिल्म में पिता की भूमिका निभा रहे हैं तो वहीं एक्ट्रेस अदिति राव हैदरी इस फिल्म में उनकी बेटी का रोल प्ले कर रही हैं।

दरअसल, इस फिल्म के लिए डायरेक्टर उमंग कुमार, प्रोड्यूसर संदीप सिंह और भूषण कुमार को डेडलाइन मिली हुई थी कि इस फिल्म की स्क्रिप्ट का काम जल्दी से जल्दी निपट जाना चाहिए। स्क्रिप्ट राइटर राजा शांडिल्या ने अब तक सिर्फ कॉमेडियन स्क्रिप्ट ही लिखी थी। लेकिन दो महीने में उन्होंने फिल्म भूमि की स्क्रिप्ट लिख डाली। इतना ही नहीं स्क्रिप्ट पढ़ते वक्त संजय पर इस का इतना असर पड़ा कि वह रोने लगे। इससे पहले संजय राजा को लेकर श्योर नहीं थे कि वह स्क्रिप्ट लिख पाएंगे। लेकिन राजा ने ये कमाल कर दिखाया और संजय को इमोशनल कर के ही माने।

 

You May Also Like

English News