जब जंगलों की खाक छानते-छानते हाथ लगा करोंड़ो का खजाना, अमीर हुआ भारत देश…

NEW DELHI: कहते हैं जब भगवान देता है छप्पर फाड़ के देता है। लेकिन बहुत कम किस्मत वाले ऐसे होते हैं जिनके साथ ऐसा होता है। आज हम आपको कुछ ऐसे ही खुशनसीब लोगों को कहानी बताने जा रहे हैं।जब जंगलों की खाक छानते-छानते हाथ लगा करोंड़ो का खजाना, अमीर हुआ भारत देश...

 जब भी जाने-अनजाने में किसी की करोड़ों की लॉटरी लग जाती है तो हम अपने बारे में सोचने लगते हैं। लेकिन, यह जानकर आश्चर्य करेंगे कि मेटल डिटेक्टर भी आपको करोड़पति बना सकता है। जी हां, पिछले कुछ समय में ऐसे कई मामले सामने आए हैं, जहां मेटल डिटेक्टर ने रहस्यमयी खजानों का पता लगाया और इनमें खजाना पाने वाले अधिकतर लोग आम व्यक्ति थे।

हजार एंग्लो-सेक्शन सिल्वर क्वॉइंस

इंग्लैंड के बकिंघमशायर में पॉल कोलमैन को यह खजाना उस वक्त मिला, जब वे एक जंगल से गुजर रहे थे। पॉल अक्सर पुरानी चीजों की तलाश के लिए जंगलों की खाक छानते हैं। बकिंघमशायर के जंगल में पॉल मेटल डिटेक्टर से जमीन टटोल रहे थे, इसी दौरान डिटेक्टर के सेंसर ने पॉल को सूचना दी। पॉल ने वहां की जमीन खोदनी शुरू कर दी और उनके हाथ एक ऐसा बॉक्स लगा, जिसमें 5 हजार एंग्लो-सेक्शन सिल्वर क्वॉइंस थे। बाजार में इनकी कीमत 1 मिलियन पाउंड (करीब 8 करोड़, 40 लाख रुपए) थी।

50 हजार सेल्टिक सिल्वर और गोल्डन क्वाइंस

साल 2012 में यह खजाना न्यूजर्सी में रहने वाले दो किसान भाईयों रेज मिड और रिचर्ड माइल्स के हाथ लगा। इनकी किस्मत देखिए कि मेटल डिटेक्टर खरीदने के कुछ समय पहले ही इन्होंने अफवाह सुनी थी कि एक किसान को अपने खेत में खजाना मिला। इन दोनों ने भी मेटल डिटेक्टर से खजाने की तलाश में लग गए। कुछ समय बाद ही मेटल डिटेक्टर से इनके हाथ ऐसा खजाना लगा, जिसके बारे में इन्होंने भी नहीं सोचा था। इन्हें 50 हजार सेल्टिक सिल्वर और गोल्डन क्वाइंस मिले, जिसकी कीमत 10 मिलियन पाउंड (करीब 84 करोड़ रुपए) थी।

रोमन साम्राज्य के 159 गोल्ड क्वाइंस

साल 2013 में एक कार सेल्समैन पीटर को इंग्लैंड के सेंट अलबांस में रोमन साम्राज्य के 159 गोल्ड क्वाइंस मिले थे। दरअसल, पीटर को शिकार का भी शौक था। वह हमेशा अपने पास मेटल डिटेक्टर भी रखता था। एक बार शिकार के दौरान फालतू समय में वह जंगल में मेटल डिटेक्टर से जमीन खंगाल रहा था, तभी उसके हाथ ये क्वाइंस लगे। इन सिक्कों की कीमत एक करोड़ 80 लाख रुपए थी।

You May Also Like

English News